कम रिजल्ट पर कारण बताओ नोटिस

हमीरपुर—जिला के दो स्कूलों का दसवीं कक्षा का रिजल्ट 25 फीसदी से कम रहा है। जबकि डेढ़ दर्जन से अधिक स्कूलों का 50 फीसदी से कम रिजल्ट आंका गया है। ऐसे स्कूलों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं। इसके चलते स्कूल मुखियों और सब्जेक्ट वाइज खराब रिजल्ट देने वाले अध्यापकों की दिक्कतें बढ़ गई हैं। बता दें कि हमीरपुर जिला के एक हाई स्कूल में 17 के 17 छात्र ही फेल हैं। जबकि दूसरे स्कूल में आठ में से छह छात्र फेल हैं। सिर्फ दो छात्र ही पास हो पाए हैं। यही नहीं एक दर्जन स्कूलों का भी ऐसा ही हाल है। स्कूल में आधे से ज्यादा छात्र फेल हैं। इसके अलावा 20 के करीब ऐसे स्कूल हैं, जिनमें 10 या फिर इससे कम संख्या में छात्र परीक्षा में बैठे थे। इनमें से आधा दर्जन स्कूलों को छोड़कर बाकि स्कूलों का रिजल्ट भी ज्यादा खास नहीं है। सूत्रों की मानें तो स्कूल शिक्षा बोर्ड की दसवीं कक्षाओं में खराब रिजल्ट देने वाले सरकारी स्कूलों पर एक बार फिर से कार्रवाई की तैयारी है। शिक्षा विभाग ने हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड से सभी स्कूलों का रिजल्ट तलब किया है। शिक्षा विभाग में खराब रिजल्ट देने वाले स्कूल अध्यापकों से लेकर प्रधानाचार्य पर कार्रवाई हो सकती है। बताया जा रहा है कि शिक्षा विभाग ने स्कूल शिक्षा बोर्ड से नौ बिंदुओं पर रिजल्ट को लेकर जानकारी मांगी थी। इसमें दसवीं कक्षा का ओवरऑल पास परसेंटेज किस स्कूल की क्या रही। कितने बच्चों को 60 फीसदी से अधिक अंक आए हैं। टॉप 500 छात्र कौन हैं, टॉप 50 में कौन-कौन छात्र हैं। थर्ड डिवीजन में कितने बच्चे पास हुए हैं। कितने स्कूलों का परीक्षा परिणाम 80 से 100 फीसदी के बीच है। कितने स्कूल का परिणाम शून्य से 25 फीसदी के बीच है। कितने स्कूलों का परिणाम 26 से 50 फीसदी के बीच है। सभी विषयों में अलग-अलग परिणाम किस तरह का है। यह सारा रिकार्ड अलग-अलग तैयार करके लिया गया है। इस ब्यौरे के आधार पर 25 फीसदी से कम परिणाम देने वाले स्कूलों की समीक्षा की जाएगी। शिक्षा विभाग शून्य से 25 फीसदी तक परीक्षा परिणाम देने वाले स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई करेगा। इसमें ऐसा डाटा भी तैयार किया जाएगा कि किस विषय का रिजल्ट सबसे ज्यादा खराब रहा।

हमीरपुर के दस स्कूलों का रिजल्ट सराहनीय

हमीरपुर के दस स्कूलों का रिजल्ट 100 फीसदी रहा है। जबकि 14 स्कूलों का 90 फीसदी से ऊपर और दस स्कूलों का 80 फीसदी से अधिक रहा है, जो कि काफी सराहनीय है।

हमीरपुर में ओवरआल रिजल्ट 69 फीसदी रहा

हमीरपुर जिला का ओवरआल दसवीं कक्षा का रिजल्ट 69 फीसदी रहा है। हालांकि स्कूल शिक्षा बोर्ड का रिजल्ट 60.79 फीसदी रहा है। यही नहीं बीते वर्ष दसवीं कक्षा का स्कूल शिक्षा बोर्ड का रिजल्ट 63.39 फीसदी दर्ज किया गया था।

You might also like