कराडू देव संग झूमे देवता शरमला

मतियाना—कुमारसैन तहसील के बड़ागांव पंचायत के अंतर्गत श्री डोम देवता मदिर परिसर कराड़ू में नगरकोटिया डोम देवता महाराज शरमला व डोम देवता महाराज कराडू की भव्य जातर का आयोजन किया गया। कराडू मंदिर परिसर में देवता के कारदारों व कल्याणों द्वारा ठियोग तहसील के प्रसिद्ध देव श्री डोम देवता महाराज शरमला के आगमन पर भव्य स्वागत किया गया। इस अवसर पर हुए दो देवो के मिलन के साक्षी बने लोगो ने देवताओं से सुख समृद्धि का आशीर्वाद प्राप्त किया। पारंपरिक जातर मेले के अवसर पर प्राचीन रीति-रिवाज का अदभुत नजारा देखने को मिला। देवता के खानदानी लोगों ने अपने पारम्पारिक वेश भूषा में नृत्य किया जिसको स्थानीय लोगों ने बहुत पसंद किया। पारंपारिक विधि विधान से देवों की पूजा अर्चना क्रम पूरा किया गया उसे बाद भव्य जातर आयोजित हुइ। नगरकोटिया डोम देवता महाराज शरमला व डोम देवता कराडू के रथो के साथ देवलुओं ने जातर लगाई। इस अवसर पर देव नर्तक दल शरमला के देवलुओं ने पारंपरिक चोल्टु नृत्य कर मनमोहक नजारा प्रस्तुत किया। बताते चले कि डोम देवता शरमला शमुखर से आरंभ हुइ जातर के बाद अपने क्षेत्र में जातर के लिये भ्रमण पर निकले हुए है। प्राचीन मान्यताओं के अनुसार जहां-जहां पर देवता महाराज के कल्याणे रहते है वंहा पर लंबे समय के अंतराल के बाद देवता महाराज के आदेशानुसार इलाके की सुख समृद्वि और खुशहाली के लिये जातर का आयोजन किया जाता है। स्थानीय बुजुर्ग कारदारों के अनुसार सैंकड़ों साल बाद दैविय कृपा से दो भाइयों का मिलन हुआ है। इस अवसर पर कराडू डोम देवता गूर रोशन लाल, भंडारी सोमराज वर्मा, हेत राम वर्मा, जियालाल, घन श्याम शरमला मंदिर से डोम देवता के गुरु मंगत राम, मोहतमिन मदन लाल वर्मा, नंद लाल कालटा, भंडारी ईश्वरदास डोगरा, डोम देवता के साथ आए 7 खुंदों के सैकड़ों लोगों सहित क्षेत्र की स्थानीय जनता मौजूद रही।

You might also like