कर्नाटक-राजस्थान-आरपीएफ संभालेगी मोर्चा

चुनाव संपन्न करवाने के लिए धर्मशाला पहुंची बाहरी राज्यों की 163 टुकडि़यां

धर्मशाला – पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश में लोकसभा चुनाव-2019 की मतगणना 19 मई को देश भर के जवानों की सुरक्षा निगरानी में करवाए जाएंगे। प्रदेश के कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में कर्नाटक, असम, राज्यस्थान आर्म्ड पुलिस और रेलवे पुलिस प्रोटेक्टशन (आरपीएफ) जवान चुनावों का जिम्मा संभालेंगे। कांगड़ा में हज़ारों जवानों की सुरक्षा के पहरे में  चुनाव होंगे। पुलिस अधीक्षक कार्यालय धर्मशाला में बुधवार को जवानों की ब्रिफिगं भी की गई है, अब 17 मई से चुनावों की सुरक्षा व्यवस्था का जिम्मा संभालेंगे। लोकसभा चुनाव-2019 के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा सुरक्षा व्यवस्था के भी पुख्ता बंदोबस्त किए जा रहे हैं। मतगणना को सूचारू रूप से चलाने के लिए प्रदेश भर सहित देश भर के जवान भी सुरक्षा का जिम्मा संभालेंगे। इसके लिए कर्नाटक, असम, राजस्थान आर्म्ड पुलिस और आरपीएफ के जवान जिला मुख्यालय धर्मशाला में पहुंच गए हैं। कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में बाहरी राज्यों से 123 विभिन्न टुकडि़यां पहुंची है। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश पुलिस के जवान भी चुनावों में ड्यूटियां देंगे। पुलिस अधीक्षक कांगड़ा संतोष पटियाल ने देश भर के जवानों को चुनाव ड्यूटियों को लेकर ब्रिफिगं दी है।  इसके बाद अब पुलिस जवान 17 मई से चुनावी बूथों पर सुरक्षा का जिम्मा संभाल लेंगे। पुलिस जवान 17 मई को पोलिंगं बूथ पार्टियों के साथ ही मतदान केंद्र के लिए रवाना होंगे, जिसके बाद 17,18 मई के बाद 19 को मतदान के बाद चुनाव प्रक्रिया पूरी होने के बाद वापसी करेंगे। फिलहाल चुनावों के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

ऑडिटोरियम में पोस्टल बेलेट पेपर सेंटर

एसडीएम धर्मशाला एसके पराशर ने बताया कि गुरुवार को पीजी कालेज धर्मशाला  के ऑडिटोरियम पोस्ट बैलेट पसैलिटेशन सेंटर में चुनावी ड्यूटियों में जाने वाले लोगों के मतदान होंगे। इस दौरान चुनाव के खड़े उम्मीदवारों के प्रतिनिधि भी मौके पर  मौजूद रहेंगे।

You might also like