कर्मियों की मांगों पर गौर करे प्रबंधन

चंबा—परिवहन मजदूर संघ इकाई चंबा की बैठक का आयोजन सोमवार को बस अडडे के विश्राम गृह में परिसर में किया गया। बैठक की अध्यक्षता परिवहन मजदूर संघ के जिला मंत्री सरवण कुमार ने की। बैठक में परिवहन निगम प्रबंधन की विभिन्न कर्मचारी हित के मुददों को निपटारे को लेकर सुस्त कार्यशैली पर रोष प्रकट किया गया। बैठक में वक्ताओं ने कहा कि परिवहन प्रबंधन द्धारा यात्रियों के भोजन के लिए जो ढाबे चिंहित किए है उनमें जसूर ढाबा शराब के ठेके के साथ है। वहां पर आए दिन शराबियों का जमावड़ा लगा रहता है। यात्रियों का पक्ष लेने पर शराबी चालक व परिचालकों के साथ मारपीट करने पर उतारू हो जाते है। वक्ताओं ने बताया कि बीते दिनों भी ऐसा ही मामला सामने आया है जब शराबियों ने चंबा- चंडीगढ़ रूट पर चालक पर हमला किया गया, जिससे चालक को काफी चोटें आई। वक्ताओं ने कहा कि निगम प्रबंधन अवैध रूप से चलने वाली डलहौजी-दिल्ली बस का संचालन रोकने में प्रबंधन पूरी तरह से असफल रहा है, जिससे निगम को हजारों रूपये का चूना लग रहा है। उन्होंने निगम प्रबंधन द्धारा कर्मचारियों को नियमित करने के समय डीजल सहित अन्य सामान की जबरन रिकवरी करने की कवायद पर भी नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि वर्कशाप में नियमित रूप से सफाई न होने के कारण कर्मचारियों को गंदगी में मजबूरन काम करना पड़ रहा है। लंबी दूरी पर डयूटी करने वाले चालकों व परिचालकों सही रेस्ट व ओवर नहीं दिया जा रहा है। वर्कशाप में जगह न होने से चालकों को गाड़ी का काम करवाने व सफाई करवाने में बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बैठक में संघ ने घ्परिवहन प्रबंधन से मांग की है कि इन मांगों के तहत जल्द से जल्द सकारात्मक पहल की जाए। ताकि उन्हें किसी प्रकार की परेशानी न हो। बैठक में परिवहन मजदूर संघ चंबा ने यह फैसला लिया है कि 28 व 29 को परिवहन मजदूर संघ की प्रादेशिक बैठक चंबा में होने जा रही है। प्रदेश कार्यकारिणी इन मुद्दों को लेकर निगम प्रबंधन व क्षेत्रीय प्रबंधन से वार्ता करेगी।

You might also like