कश्मीर राजमार्ग तीसरे दिन भी बंद

 

कश्मीर राजमार्ग तीसरे दिन भी बंद

श्रीनगर- जम्मू कश्मीर में तीन सौ किलोमीटर लंबा श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग भूस्खलन और लगातार पत्थर गिरने के कारण शनिवार को तीसरे दिन भी बंद रहा। सूत्रों ने बताया कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) और सीमा सड़क संगठन अत्याधुनिक मशीनों तथा श्रमिकों की सहायता से राजमार्ग पर पड़े भूस्खलन के मलबे को हटा दिया है और राजमार्ग पर फंसे हुए वाहनों को कश्मीर घाटी की ओर रवाना होने की अनुमति शुक्रवार शाम दे दी गयी थी। दिग्डोल में एक बार फिर भूस्खलन होने के कारण यातायात को फिर बंद कर दिया गया और पत्थर गिरने से मलबा साफ कर रहा एक कर्मचारी घायल हो गया। लद्दाख क्षेत्र को कश्मीर घाटी से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग और 86 किलोमीटर लंबा ऐतिहासिक मुग़ल रोड पर हालांकि एक ओर से वाहनों की आवाजाही जारी है। आधिकारिक सूत्रों ने यूनीवार्ता को बताया कि डिग्डोल तथा रामबन के अन्य जगहों पर आज भी पत्थर गिरने का सिलसिला जारी है जिससे राजमार्ग साफ करने के काम में बाधा आ रही है। मौसम विभाग ने अगले चार दिन में बारिश का अनुमान जताया है जिससे भूस्खलन और पत्थर गिरने की घटनाओं में वृद्धि की आशंका है। भूस्खलन होने के बाद राजमार्ग को बंद कर दिया गया, जिसके कारण कश्मीर की ओर जाने वाले तीन हजार से अधिक वाहन राजमार्ग पर फंसे हुए हैं। इन वाहनों में यात्री वाहनों के अलावा आवश्यक वस्तुएं लेकर जा रहे ट्रक और तेल के खाली टैंकर शामिल हैं। राजमार्ग बंद रहने के कारण फल और सब्जियां सड़ रही हैं और मुर्गियों की मौत हो रही है। राजमार्ग पर महिलाओं और बच्चों समेत हजारो यात्री फंसे हुए हैं। यात्रियों ने प्रशासन पर बदइंतजामी का आरोप लगाया है। 

 

You might also like