कांग्रेस को सताने लगा चौकीदार का डर

मंडी—कांग्रेस पार्टी के नेताओं को चौकीदार का डर सताने लगा है। इस डर के चलते अब वह ईवीएम और अन्य कई प्रकार के मनघंडत आरोप लगाकर अपनी हार का ठीकरा फोड़ना चाहते हैं। मंडी में भाजपा कार्यालय में चुनावी मंथन बैठक को संबोधित करते हुए सांसद एवं भाजपा प्रत्याशी रामस्वरुप शर्मा ने ये शब्द कहे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेता जो बूथ कैपचरिंग की बातें कर रहे हैं, उससे पता चलता है कि चुनाव परिणाम आने से पहले ही वह अपनी हार मान चुके हैं। इस हार से हताश होकर बड़े पैमाने पर हुए मतदान को बूथ कैप्चरिंग बता रहे हैं, जिस कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने 60 साल तक देश को लूटा उनकी लूट-घसूट पांच साल से देश के चौकीदार ने बंद करवा दी है। लूट-घसूट बंद होते ही वह चौकीदार के खिलाफ ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करने लगे, जिससे कांग्रेस की संस्कृति का पता चलता है और देश के मतदाताओं ने उनकी इस नीयत को देखकर चौकीदार पर भरोसा जताया है, जिसके चलते कंेद्र में पूर्ण बहुमत से साथ एनडीए सरकार बनने वाली है। उन्होंने कहा कि मंडी संसदीय क्षेत्र के लोगों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शत-प्रतिशत मतदान करने की जो अपील की थी, उसे क्षेत्र के लोगों ने सम्मानजनक स्वीकार किया और इसी वजह से बड़े पैमाने पर मतदान करने लोग घरों से बाहर निकले। उन्होंने मंडी संसदीय क्षेत्र के तमाम संगठनात्मक पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं और आम मतदाताओं का सहयोग देने के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि वह उनकी आशाओं व आंकाक्षाओं के ऊपर खरा उतरेंगे तथा क्षेत्र के विकास के लिए कोई कमी नहीं छोड़ेंगे। रामस्वरूप शर्मा ने विशेष तौर पर मंडी सदर के लोगों को निश्चिंत रहने की बात करते हुए कहा कि वह सदर में विधायक की कमी को महसूस नहीं होने देंगे तथा सदर के तमाम लोगों के कार्य उनकी आशाओं के अनुरुप बिना किसी दलगत राजनीति से उपर उठकर किए जाएंगे।  उन्होंने 23 मई को चुनावी नतीजे आने के बाद तमाम पहलुओं पर भाजपा पदाधिकारियों के साथ चर्चा की। इस अवसर पर पूर्व विधायक कन्हैया लाल ठाकुर, जिला अध्यक्ष रणवीर सिंह, महामंत्री चेतराम, जिला प्रैस सचिव अजीत कपूर, संसदीय क्षेत्र के मीडिया प्रभारी राजा सिंह मल्होत्रा, मंडल अध्यक्ष मनीष कपूर, नप उपाध्यक्ष विरेंद्र भट्ट, मंडल महामंत्री पुष्पराज कात्यायन, युवा मोर्चा अध्यक्ष राकेश वालिया सहित अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

You might also like