किसकी बनेगी सरकार… बस आज की रात इंतजार

मंडी—लोकसभा चुनावों के नतीजों को अब सिर्फ एक रात का इंतजार बचा है और कल नई सरकार देश की सत्ता में होगी। मंडी संसदीय क्षेत्र को भी अगला सांसद मिल जाएगा। 23 मई को सुबह दस बजे से लोकसभा परिणाम की तस्वीर साफ होना शुरू हो जाएगी। मंडी सीट के लिए आठ जगह स्थापित मतगणना केंद्रों से परिणाम आएगा। हालांकि इस बार अंतिम परिणाम निकलने में देरी होने की भी संभावना है, लेकिन एक बजे तक लगभग तस्वीर साफ हो जाएगी। एग्जिट पोल से जहां भाजपा नेताओं के चेहरे खिले हुए हैं। वहीं, कांग्रेस खेमे में खामोशी का आलम है। हालांकि छोटी काशी मंडी में हुए भारी मतदान के बाद कांग्रेस के साथ भाजपा नेताओं की भी धड़कने बड़ी हुई हैं। मंडी संसदीय सीट पर इस बार 73.32 प्रतिशत मतदान हुआ है, जो कि अब तक पिछले सभी चुनावांे अधिक है। अकेले मंडी जिला में भी 73 फीसदी से अधिक मतदान हुआ है। मंडी जिला में विधानसभा चुनावों की तरह ही लोगों ने मतदान में रुची दिखाई है।  हालांकि भारी मतदान को सत्ता पक्ष के खिलाफ माना जाता है, लेकिन इस बार इससे उल्टा होने का दावा किया जा रहा है। मंडी संसदीय सीट पर इस बार भाजपा से रामस्वरूप शर्मा और कांग्रेस से पंडित सुखराम के पौत्र आश्रय शर्मा के बीच मुकाबला हुआ है। हालांकि इस सीट पर 15 अन्य प्रत्याशियों ने भी इस बार चुनाव लड़ा है, लेकिन मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच ही यहां होता आया है। बंपर वोटिंग के बाद भाजपा व कांग्रेस के नेता अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं। दोनों दलों के नेताओं में लीड को लेकर गुणा-भाग का दौरा चला हुआ है। कांग्रेस ने तो अब भारी मतदान को लेकर भाजपा व प्रशासन में मिलीभगत होने के भी आरोप लगाए हैं, जबकि भाजपा नेताओं का कहना है कि कांग्रेस अपनी हार देखकर इस तरह के आरोप लगा रही है। भाजपा प्रत्याशी रामस्वरूप शर्मा ने कहा कि भारी मतदान जिला से मुख्यमंत्री की वजह से हुआ है। लोगों ने भाजपा के लिए बंपर वोटिंग की है। कांग्रेस की बड़ी हार तय है। उधर, कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा ने कहा कि भाजपा ने धनबल व सत्ता के बल से यह चुनाव लड़ा है। कांग्रेस पूरे संसदीय क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करेगी। एग्जिट पोल हर बार सही हुए हैं, ऐसा नहीं हुआ है।

कांग्रेस को कुल्लू रामपुर से आस

कांग्रेस मंडी जिला में भी अच्छा प्रदर्शन करने की बात कह रही है, लेकिन कांग्रेस को कुल्लू जिला और पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के रामपुर से बड़ी लीड की आस है। इसी तरह जनजातिय क्षेत्रों से भी कांग्रेस को बढ़त की उम्मीद है।

सराज से बड़ी लीड

पिछले विस चुनावों में भी ऐसा ही मतदान लोगों ने किया था, जिसके बाद मंडी जिला में भाजपा के विधायक बडे़ अंतर से जीते थे। इस बार भी भाजपा को जिला में ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के गृह क्षेत्र सराज से ही भाजपा रिकार्ड बढ़त मान कर चली हुई है।

You might also like