किसके सिर सजेगा ताज…फैसला आज

बिलासपुर कालेज में सुबह आठ बजे से होगी चारों विधानसभा हलकों की मतगणना, हर क्षेत्र के लिए लगाए दस-दस टेबल

बिलासपुर -इंतजार की घडि़यां खत्म, अब फैसले की घड़ी आ गई है। गुरुवार को सियासत के धुरंधरों की किस्मत का पिटारा खुलेगा। 23 मई को सुबह आठ बजे से शुरू होने वाली मतगणना कहीं खुशी तो कहीं गम लेकर आएगी। हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के चुनाव परिणाम में दिग्गज नेताओं की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी हुई है। लोकसभा चुनाव 2019 के मतों की गिनती गुरुवार सुबह आठ बजे से राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय बिलासपुर में आरंभ होगी।  जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त विवेक भाटिया ने बताया कि मतगणना के लिए सभी तैयारियां पूरी है। 46-झंडूता विधानसभा क्षेत्र की मतगणना सहायक निर्वाचन अधिकारी एवं एसडीएम झंडूता विकास शर्मा, 47-घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र की मतगणना सहायक निर्वाचन अधिकारी एवं एसडीएम घुमारवीं शशिपाल शर्मा, 48-बिलासपुर सदर की मतगणना सहायक निर्वाचन अधिकारी एवं एसडीएम सदर प्रियंका वर्मा व 49-श्रीनयनादेवी विधानसभा क्षेत्र की मतगणना सहायक निर्वाचन अधिकारी एवं एसडीएम नयनादेवी अनिल चौहान की अध्यक्षता में की जाएगी। उन्होंने बताया कि प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र की मतगणना के लिए मतगणना कक्ष में दस-दस टेबल स्थापित किए जाएंगे तथा दस काउंटिंग सुपरवाइजर, दस काउंटिंग एजेंट तथा 13 माइक्रो ऑबजर्बर प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र की मतगणना का कार्य पूर्ण करेंगे। वहीं, बिलासपुर के स्ट्रांग रूम में रखी गई इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) की सुरक्षा को त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरा लगाया गया है। इसकी सुरक्षा को सीआईएसएफ फोर्स के साथ ही एचपीएपी फर्स्ट बीएन जुंगा बटालियन के जवान व जिला पुलिस कर्मी तैनात किए गए हैं। स्ट्रांग रूम के चारों ओर चप्पे-चप्पे पर पुलिस व पैरा मिलिट्री फोर्स का पहरा है। इसके अलावा मतगनणा वाले दिन टै्रफिक व्यवस्था और लॉ एंड आर्डर बनाए रखने के लिए भी भारी पुलिस बल तैनात किया है। मतगणना के दौरान कोई भी अप्रिय घटना न घट पाए, इसके लिए पुलिस बल हर मूवमेंट पर नजर रखेगा। मतगणना के लिए लगभग 200 से भी अधिक सुरक्षा बलों के जवानों की तैनाती की गई है। डीसी विवेक भाटिया व एसएसपी अशोक कुमार भी सुबह-शाम यहां निरीक्षण कर रहे हैं। सुरक्षा घेरे के अंदर केवल अधिकृत व्यक्ति ही प्रवेश कर पा रहा है।

You might also like