कुटलैहड़ में तूफान का तांडव

बंगाणा—कुटलैहड़ विधानसभा क्षेत्र में बुधवार रात तूफान के चलते डेढ़ दर्जन से अधिक मकानों व पशुशालाओं की छते उड़ गई। भारी अंधड़ के बीच मकानों की छते उड़ने से लोगों में चीखों पुकार गूंज उठी। इस दौरान टीनपोश व खड़पोश छतें दूर-दूर जाकर गिरी। इससे लोगों का भारी नुकसान हुआ है। गुरुवार सुबह नायब तहसीलदार धर्मपाल नेगी, पटवारी व पंचायत प्रधान मौके पर पहंुचे और जायजा लिया। इस दौरान प्रति पीडि़त परिवार को दो-दो हजार रुपए की राहत राशि भी दी गई। बुधवार देर रात अचानक तेज हवाएं चलने से क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई। इस दौरान तेज आंधी से एक दर्जन से अधिक मकानों व आधा दर्जन पशुशालाओं की छतंे उड़ गई। वहीं, कई स्थानों पर पेड़ भी गिर गए। गांव खोली के प्रेम चंद, देवराज, सागर कुमार, शौजी राम, देशराज, रोशन लाल, नंद लाल, महिंद्र सिंह, अजु कुमार, निक्कू राम, सुनील कुमार, जीतराम, देवराज, सोनी कुमार, गांव बराल के रणजीत सिंह व ग्राम पंचायत मंदली के अमर सिंह, देवराज व विशन दास के रिहायशी मकानों व पशुशालाओं का काफी नुकसान हुआ है। कई मकानों की टीनपोश छतें करीब 200 मीटर दूर जाकर गिरी। कई मकानों में दरारें आ गईं। क्षेत्र में कई जगह से पेड़ भी गिर गए। उधर, नायब तहसीलदार धर्मपाल नेगी ने कहा कि मौके पर जाकर स्थिति का जायजा लिया गया है। प्रति परिवार को दो-दो हजार रुपए की फौरी राहत दी गई है।

You might also like