कुलदीप राठौर के बयान पर प्रवीण कुमार का पलटवार

शिमला—भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी प्रवीण कुमार शर्मा ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर के कमजोर नेतृत्व पर कांग्रेसियों द्वारा ही लगाए जा रहे प्रश्न चिन्ह से पेरशान उनकी टीम ने ध्यान बंटाने के लिए जासूसी व फोन टैपिंग का पैंतरा खेला है। सरकार पर आरोप लगाने के बजाय वह कांग्रेस के कमजोर पड़ते संगठन को संभालने का प्रयास करें क्यांेकि लोकसभा की चारों सीटों पर कांग्रेस की हार के बाद उनकी विदाई भी तय है। भाजपा के मीडिया प्रभारी ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद भी कुलदीप सिंह राठौर की स्वीकार्यता कांग्रेस में नहीं बन पा रही है। पहले ही बिखराव के दौर से गुजर रही कांग्रेस उनके प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद और अधिक गुटों में विभक्त दिख रही है। संगठन में अपना गुट खड़ा करने के कारण उन्हें चारों ओर विरोध का सामना कर पड़ रहा है। ठियोग से पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी दीपक राठौर, मंडी में जिला अध्यक्ष दीपक शर्मा और कांगड़ा में चंद्र कुमार के सार्वजनिक विरोध के कारण उनकी जो फजीहत हुई है। उसी से ध्यान बंटाने के लिए अब उनकी टीम इस तरह बिना सबूतों के निराधार आरोप लगा रही है। भाजपा नेता ने कहा कि फोन टैपिंग और जासूसी के आरोप लगाना कांग्रेसी नेताओं का प्रिय शगल रहा है। वे जानते हैं कि इस बहाने कम से कम चर्चा में तो रहेंगे। पूर्व में भी कांगे्रस के वरिष्ठ नेता वीरभद्र सिंह ने इस तरह के आरोप गत धूमल सरकार पर लगाए थे।

You might also like