‘कुल्लू अस्पताल’: धड़ाधड़ चोरियां ,सिक्योरिटी ‘मुस्तैद’

कुल्लू—कुल्लू अस्पताल के प्रबंधन की नींद कभी नहीं टूटती। यहां सिक्योरिटी हमेशा मुस्तैद रहती और चोरियों का सिलसिला कभी थमता नहीं। पुलिस में शिकायत  के बाद आज तक क्या कार्रवाई हुई किसी को कोई पता नहीं। शिकायत के बाद ऐसे लगता है जैसे फिर नई चोरी का इंतजार किया जाता हो। आज तक कुल्लू अस्पताल परिसर, खासकर वार्डो में दर्जनों चोरियां हो चुकी हैं। मगर दो ताजा मामलों ने तो मरीजों ओर उनके तिमारदारों की नींद  उड़ाकर रख दी है। बताया जाता है कि 19 मई को जरी अस्पताल में तैनात एक ड्राइवर का रिश्तेदार रात को बीमार हो गया । वह उसे कुल्लू  के क्षेत्रीय अस्पताल लाया । वह गाड़ी से मरीज को उतारकर डाक्टर के पास चला गया। मगर बदकिस्मती से गाड़ी बंद करना भूल गया। उसे जैसे ही अपनी गलती का एहसास हुआ वह गाड़ी के पास आया, तब तक उसके पैसे उड़ाए जा चुके थे। गाड़ी में रखे उसके बैग से करीब चार हजार रुपए चोरी हुए हैं। उसने इस संदर्भ में पुलिस में मामला दर्ज करवा दिया है। आगे क्या कार्रवाई हुई अभी तक पता नहीं चल पाया है। ताजा मामला 20 मई का है। अस्पताल पुराने भवन की चौथी मंजिल में सोमवार की रात को चोरों ने गहने समेत नगदी चुरा ली। यहां उपचाराधीन महिला और उसके तीमारदार रात को जब सोए हुए थे, तो उसी दौरान शातिरों ने सेंध लगाई। आशणी गांव की महिला भावना ने बताया उसका सोने का मंगलसूत्र, चांदी की घड़ी-चूड़ी, पायल समेत दस हजार के करीब नकदी चुराई गई है। यह सारा सामान एक बैग में रखा था। जब मरीज और तीमारदार जागे तो बैग गायब पाया गया। बैग ढूंढने की कोशिश की तो यह  शौचालय में खाली जगह फैंका हुआ मिला। अस्पताल में सुरक्षा की बात करें तो यहां सीसीटीवी कैमरा लगे हुए हैं और प्राइवेट सुरक्षा गार्ड भी तैनात रहते हैं मगर यह सारा सिस्टम किस मुस्तैदी से काम करता होगा, इसका अंदाजा यहां हुई चोरियों से लगाया जा सकता है। दो दिन के भीतर हुई इन चोरियों के बाद अस्पताल प्रबंधन और पुलिस ने मात्र इतनी हरकत जरूर की है कि शिकायत दर्ज हुई है। ठोस कार्रवाई क्या हुई या होगी यह अभी पता नहीं है। कहा जा सकता है कि ये मामले भी पुराने मामलों की तरह बेनतीजा हो सकते हैं। हालांकि पुलिस के अनुसार सीसीटीवी फुटेज से दो लोगों पर संदेह  हुआ है,जिसकी छानबीन की जा रही है। चोरी के मामले की सूचना मिलने से अस्पताल के भीतर उपचाराधीन मरीज और उनके तीमारदार बुरी तरह डर गए हैं और अपने आपको असुरक्षित मान रहे हैं।   चोरी का यह नए मामले नहीं है बल्कि इससे पहले भी कई बार चोरियां हुई है। कई चोरी के मामलों का आज दिन तक सुराग नहीं मिला है। उधर, सीएमओ कुल्लू डा. सुशील चंद्र शर्मा का बयान दिलचस्प है कि मामला पुलिस देख रही है। एसएचओ कुल्लू ने मामला दर्ज होने की पुष्टि की है।

You might also like