कुल्लू की मंडियों में खुमानी की दस्तक

सब्जी मंडियों में पहुंचने लगी अर्ली प्रजाति की फसल, बागबानी सीजन-2019 का हुआ आगाज

भुंतर—जिला कुल्लू की सबसे बड़ी सब्जी मंडी भुंतर में स्वादिष्ट खुमानी ने दस्तक दे दी है। लिहाजा, खुमानी ने जिला के बागबानी सीजन-2019 का श्रीगणेश भी कर दिया है। स्टोन फ्रूट से आने वाले एक माह में मार्केट में बहार लौटने जा रही है। अनुकूल मौसम इस बार कुल्लू के बागबान बेहतर फसल की आस लगाए बैठे हैं और फसल के लिए दिन रात एक कर रहे हैं। इसी बीच खुमानी की फसल तैयार हो गई है तो मार्केट में उतरते ही इसकी वैल्यू भी आसमान छू रही है, जिससे खुमानी उत्पादकों के चेहरे पर खुशी झलक उठी है। मार्केट सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार खुमानी की फसल को पहली बोली भुंतर मंडी में 90 रुपए प्रति किलो की रविवार को लगी है। कारोबारियों के अनुसार हालांकि अभी तक जिला के निचले इलाकों और मंडी जिला की स्नोर घाटी की अर्ली वेराइटी की फसल मार्केट में पहुंचने लगी है। इसकी मात्रा बहुत कम है और मुख्य किस्म मंडी में पहुंचने में तीन सप्ताह से एक माह तक का समय लगने वाला है। यही कारण है कि अर्ली वेरायटी को मुंहमांगे दाम मिल रहे हैं। व पिछले कुछ सालों से स्टोन फ्रूट्स को बेहतर दाम मार्केट में मिल रहे हैं। हाल ही के सालों में बागबानों ने मल्टीक्रॉप कल्टीवेशन के फार्मूले को अपनाया है, जिससे सेब, नाशपाती के अलावा प्लम, खुमानी, अनार और नेक्ट्रीन जैसी फसलों का उत्पादन भी बढ़ा है। भुंतर सब्जी मंडी के कारोबारियों के अनुसार पिछले अभी खुमानी की खेप पहुंचनी आरंभ हुई है और आने वाले दिनों में इसमें इजाफा होना तय है। जानकारी के अनुसार स्टोन फ्रूट्स को बाहरी मंडियों तक पहुंचाने के लिए प्रदेश सहित पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और जम्मू-कश्मीर से व्यापारियों ने भी यहां डेरा जमानने की तैयारी कर ली है जो उत्पादकों को उनकी फसल के मनचाहे दाम देने दंेगे। उधर, कुल्लू जिला की कृषि उपज मंडी समिति के सचिव सुशील गुलेरिया कहते हैं कि खुमानी की आवक जिला की भुंतर मंडी में हो चुकी है और इसने जिला के बागबानी सीजन का भी श्रीगणेश कर दिया है। उन्होंने बताया कि उत्पादकों को अच्छे दाम मिले इसके लिए समिति ने कारोबारियों को निर्देश दिए हैं।

You might also like