कुल्लू के पिछलीहर में अजीविका बढ़ाने के दिए टिप्स

कुल्लू –जिला कुल्लू के फोजल जलागम की पिछलीहार ग्राम पंचायत में स्थानीय ऊन पर आधारित हस्तशिल्प को नई तकनीक के सहयोग से उत्पादित करने के लिए एक कार्यशाला का आयोजन नेरी गांव में किया गया है। यह कार्यक्रम अंतरराष्ट्रीय संस्था आईयूसीएन नई दिल्ली तथा तकनीकी एवं विकास समिति एसटीडी, मंडी की ओर से राष्ट्रीय हिमालयी अध्ययन मिशन एनएमएचएस भारत सरकार के अंतर्गत एक परियोजना में किया गया है।  समिति के कार्यकारी निर्देशक जोगिंद्र वालिया ने सभी का स्वागत किया व जलवायु परिवर्तन पर चल रही इस परियोजना की विभिन्न गतिविधियों की विस्तृत जानकारी दी। इस कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए कुमारी कल्याणी गुप्ता, खंड विकास अधिकारी (नगर) ने सभी सदस्यों को आश्वासन दिया की इस आजीविका अभियान को विभाग हर संभव तरीके से सहयोग करेगा व सभी प्रतिभागायिओं से अनुरोध किया कि वे इस कार्यशाला का पूरी तरह से लाभ उठाए। कार्यक्रम के समापन पर ग्राम पंचायत पिछलीहार के प्रधान ने सभी का धन्यवाद किया। इस कार्यशाला में 25 महिला प्रतिभागियांे ने बढ़-चढ़कर भाग लिया।

 

You might also like