खबरदार! दो दिन और तपेगा पहाड़

विभाग का पूर्वानुमान, पहली जून से राहत के आसार

शिमला – प्रचंड गर्मी से समूचा प्रदेश तप चुका है। पिछले कई दिनों से तापमान में भारी बढ़ोतरी के साथ गर्मी से पसीना छूटने लगा है। बुधवार को प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में तेज धूप और तापमान में भारी बढ़ोतरी हुई। प्रदेश के सबसे गर्म जिला ऊना का अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यहां तक कि राजधानी शिमला में गर्मी का एहसास हुआ। यहां बुधवार को अधिकतम तामपान 28.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। धर्मशाला का अधिकतम तापमान भी 30 डिग्री पर पहुंचा। ऐसे में अगले दो दिनों तक प्रदेश में गर्मी और बढ़ेगी। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश में पहली जून से मौसम करवट लेगा। इस दौरान प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में बारिश होगी। हालांकि मौसम विज्ञान केंद्र से ऐसी कोई चेतावनी नहीं हैं, लेकिन गर्मी से राहत मिल सकती है। देश के मैदानी क्षेत्रों में प्रचंड गर्मी से निजात पाने के लिए सैलानियों ने हिमाचल के शिमला, धर्मशाला, मनाली, कुल्लू, किन्नौर सहित नारकंडा क्षेत्रों की ओर अपना रुख कर दिया है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने बताया कि

पहली से तीन जून तक प्रदेश में बारिश होगी।

नालागढ़ में आग बरसा रहा सूरज

नालागढ़। भीषण गर्मी में मैदानी क्षेत्र अब पूरी तरह से तप गए है।  सुबह से ही सूर्यदेव की तपिश बढ़ने से लोगों की परेशानियां बढ़ा रही है। बुधवार को नालागढ़ में 45  तो कालाअंब में तापमान 43 डिग्री पहुंच गया है और गर्मी ने लोगों के पसीने छुड़ाने शुरू कर दिए ।

कहां, कितना तापमान

शहर       अधिकतम न्यूनतम

शिमला    28.5       18.2

सुंदरनगर  38.9      16.5

भुंतर       35.8       13.2

कल्पा     23.0      7.1

धर्मशाला  30.4      16.6

ऊना       43.0      18.4

सोलन     35.0      17.4

नाहन      36.7      23.3

केलांग     20.6      6.2

कांगड़ा    37.9      18.8

बिलासपुर 39.8      18.0

हमीरपुर   38.6      18.1

चंबा       36.4      14.1

डलहौजी  23.2       18.0

You might also like