खराब मौसम ने रोकीं प्रियंका गांधी

मंडी —पहली बार हिमाचल में चुनावी जनसभा करने के लिए आ रही कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को देखने व सुनने का लोगों का सपना अधूरा ही रह गया। मंगलवार को प्रियंका गांधी ने सुंदरनगर स्थित जवाहर पार्क में कांग्रेस की न्याय रैली को संबोधित करना था। कांग्रेस नेत्री को सुनने के लिए बड़ी तादाद में महिलाएं व कांग्रेस कार्यकर्ता भी उमडे़ हुए थे, लेकिन प्रियंका गांधी खराब मौसम के चलते सुंदरनगर नहीं पहुंच सकीं। प्रियंका गांधी को इस रैली के लिए पहले हवाई मार्ग से गगल एयरपोर्ट पहुंचना था और उसके बाद हेलिकाप्टर के जरिए सुंदरनगर। प्रियंका गांधी के दौरे को लेकर एसपीजी भी सुंदरनगर में डेरा डाल चुकी थी और कांग्रेस पार्टी द्वारा सारी तैयारियां भी पूरी की जा चुकी थीं, लेकिन सब धरी की धरी रह गईं। हालांकि इसके बाद भी कांग्रेस ने सुंदरनगर रैली को आगाज से अंजाम तक पहुंचाया और पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह सहित कांग्रेस अन्य वरिष्ठ नेताओं ने लोगों को संबोधित जरूर किया। प्रियंका गांधी के आने की उम्मीद के चलते अंत लोग भी रैली में डटे रहे। प्रियंका गांधी की सुंदरनगर रैली पर मंगलवार तड़के से खराब मौसम के चलते संकट के बादल मंडराने शुरू हो गए थे। हालांकि दिन बढ़ने के साथ 11 बजे तक लगभग मौसम साफ भी हो गया था, लेकिन उसके बाद प्रियंका गांधी नहीं पहुंच सकीं, जबकि कम समय और मौसम खराब होने के बाद भी कांग्रेस ने सुंदरनगर के जवाहर पार्क में लोगों की भीड़ जुटा ली थी और कार्यकर्ताओं में प्रियंका गांधी को लेकर जोश व उत्साह भी रैली में बना हुआ था। जनसभा के अंत तक मंच पर पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा, पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम, प्रदेश कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री और कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने मोर्चा संभाले रखा। प्रियंका गांधी के थोड़ी देर में आने की घोषणा कांग्रेस के नेता मंच से करते रहे और रैली में वीरभद्र सिंह के सबसे अंत में संबोधन करने के बाद ही इस बात की खुलासा किया कि प्रियंका गांधी नहीं आ रही हैं।

फोन पर मांगा समर्थन

कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल ने रैली के अंत में लोगों को बताया कि खराब मौसम की वजह से प्रियंका गांधी के आने का कार्यक्रम रद्द हुआ है, लेकिन उन्होंने फोन मंडी संसदीय क्षेत्र की जनता से आग्रह किया है कि सब लोग मिल कर आश्रय शर्मा व कांग्रेस के पक्ष में मतदान करें, जिसके बाद लोगों को निराशा का सामना करना पड़ा।

You might also like