खराब मौसम, बोट से जाना हुआ रद्द

सुंदरनगर—मंडी संसदीय क्षेत्र के संुदरनगर विस में पोलिंग पार्टियों सहित वोटरों को भी मतदान के दिन पीसना बहाकर वोट डालने के लिए मतदान केंद्र तक पहुंचना पड़ेगा। सुंदरनगर विधानसभा क्षेत्र में लोकसभा चुनाव के लिए मतदान प्रक्रिया पूरी करवाने वाले कर्मियों की गुरुवार को रिहर्सल प्रक्रिया पूरी हुई। शुक्रवार को पोलिग पार्टियां मतदान केंद्र के लिए रवाना की जाएंगी। मतदान 18 मई रविवार को होगा। सुंदरनगर विधानसभा क्षेत्र के सभी मतदान केंद्रों में पोलिग पार्टियों की रिहर्सल पूरी हो गई है और शुक्रवार को निगम की बस से ईवीएम और वीवी पैट मशीन के साथ सुरक्षित रवाना किया जाएगा। कोलडैम के रास्ते बोट से कर्मचारियों को भेजने की योजना रद्द कर दी गई है और सड़क के रास्ते से ही रवाना किया जाएगा। नेरी रोपडू, मझांगण जैसे कुछ ऐसे केंद्रांे में दोबारा आसानी से आवाजाही नहीं होने की सूरत में पोलिग पार्टियों को डब्बल यूनिट दी जा रही है। संुदरनगर विस की दुर्गम मतदान केंद्रों में भी दिव्यांग के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध की गई हैं। संुदरनगर में दो आदर्श मतदान केंद्रों सहित कुल 105 मतदान केंद्रों में से 20 कें द्रों में पहुंचने के लिए पोलिंग पार्टियों को घंटों पैदल भी चलना होगा, जबकि मतदान पार्टियों को निगम की बसों से जवाहर पार्क से मतदान केंद्रों के लिए रवाना किया जाएगा। पंजोलठ व जरठू मतदान केंद्र तक पहुंचने के लिए पहले पोलिग पार्टियों को कोलडैम से बोट से जाने के रूट का मौसम के कारण रद्द करने का निर्णय किया गया है। अब सभी पोलिग पार्टियों को निगम के बस के माध्यम से ही रवाना किया जाएगा। पंजोलठ व जरठू मतदान केंद्रों को भी आठ से नौ किलोमीटर पैदल वाया स्यूणू व बटवाड़ा होते हुए पहुंचना पड़ेगा। राजकीय प्राथमिक पाठशाला सोलग स्थित जरठू में चुनाव आयोग ने मतदान केंद्र स्थापित किया है। जहां मतदाताओं को भी मतदान के लिए डेढ़ से दो किलोमीटर पैदल चलना पड़ेगा। उधर, डा. अमित शर्मा, रिटर्निग अधिकारी एवं एस.डी.एम. सुंदरनगर का कहना है कि मतदान रविवार को होगा। सुंदरनगर विधानसभा क्षेत्र के सभी मतदान केंद्रों में पोलिग पार्टियों की  रिहर्सल होगी और शुक्रवार को निगम की बस से ईवीएम और वीवीपैट मशीन के साथ सुरक्षित रवाना किया जाएगा। कोलडैम के रास्ते बोट से कर्मचारियों को भेजने की योजना रद्द कर सड़क के रास्ते से ही रवाना किया जाएगा। नेरी रोपडू, मझांगण जैसे कुछ ऐसे केंद्रों में दोबारा आसानी से आवाजाही नहीं होने की सूरत में पोलिग पार्टियों को डब्बल यूनिट दी जा रही है।

You might also like