खून की जरूर करवाएं जांच

 नादौन—स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग खंड नादौन के सौजन्य से राष्ट्रीय डेंगू दिवस के अवसर पर राजकीय उच्च विद्यालय कोहला में एक खंड स्तरीय जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर खंड चिकित्साधिकारी डा. अशोक कौशल व खंड स्वास्थ्य शिक्षक राम प्रसाद शर्मा ने उपस्थित विद्यार्थियों को डेंगू के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि जानकारी के अभाव में हर साल हजारों लोग डेंगू बुखार की चपेट में आते हैं। डेंगू बुखार एडीज मच्छर के काटने से डेंगू वायरस के कारण होता है। बारिश के मौसम में यह और जानलेवा हो जाता है। समय पर इलाज के अभाव में डेंगू रक्तस्त्रावी बुखार होने लगता है और डेंगू आघात सिंड्रोम जैसी जटिलताएं होने पर फेफड़े, जिगर व दिल को नुकसान पहुंच सकता है। डेंगू के लक्षणों के बारे में बोलते हुए बताया कि गंभीर पेट दर्द, सांस लेने में कठिनाई, जोड़ों व मासपेशियों में दर्द, भूख कम लगना, चमड़ी में लाल धब्बे पड़ना, तेज ठंड लगकर बुखार आना, नाक मुंह से खून बहना, खून या सामान्य उल्टी होना, मल का रंग काला होना, बेवजह थकान और कमजोरी व अधिक पसीना आना आदि डेंगू बुखार के लक्षण होते हैं। डेंगू व मलेरिया से बचाव के विषय में उन्होंने बताया कि डेंगू मच्छर ठहरे हुए पानी में पनपते हैं जैसे कूलर के पानी, रूके हुए नालों और आसपास के पानी की नालियों में। बुखार कोई भी हो अपने खून की जांच अवश्य करवाए, मच्छरों को पनपने न दें, जालीदार खिड़कियां दरवाजे लगवाएं, सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करें तथा कपड़े ऐसे पहनें जिनसे कि शरीर पूरी तरह ढका रहे़ या मच्छर निवारक क्रीम का प्रयोग करें। इस अवसर पर स्कूल की मुख्याध्यापिका लता पठानिया ने भी बच्चों को संबोधित किया व स्वास्थ्य विभाग की तरफ से बहुद्देशीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता राजकुमार, वशीर व नरेंद्र भी उपस्थित रहे।

You might also like