खेत की आग से तीन झुग्गियां राख

ऊना—जिला मुख्यालय के साथ लगते गांव लालसिंगी में खेत को लगी आग ने तीन झुग्गियों को अपनी चपेट में लिया है। जबकि आगजनी की इस घटना में एक एक्टिवा सहित झुग्गियों में रखा सामान जलकर राख हो गया। फायर ब्रिगेड की टीम ने मौके पर पहंुचकर दो बच्चों सहित साथ लगती अन्य झुग्गियों को भी जलने से बचाया। अगर दमकल विभाग की टीम आने में थोड़ा भी लेट हो जाती तो कोई अप्रिय घटना घटित हो सकती थी। लालसिंगी में खेतों को लगी आग तेज हवाओं के चलते से झुग्गियों तक पहंुच गई और तीन झुग्गियों को अपनी चपेट में ले लिया। आग लगने की सूचना मिलते ही फायर बिग्रेड विभाग से फायरमैन प्रेमपाल, अनिल, सतपाल, विकास, तरसेम, जरनैल सिंह की टीम मौका पर पहंुची। फायर ब्रिगेड की टीम आग की चपेट में आई झुग्गियों की आग को बुझा रही थी तो साथ लगती झुग्गियों में से करीब दस से 13 साल के दो बच्चे अकेले ही झुग्गियों में खेल रहे थे। इनके परिजन मेहनत-मजदूरी के लिए बाहर गए हुए थे। आग को इन झुग्गियों की तरफ आता देख फायरमैन प्रेमपाल ने दोनों बच्चों को एक-एक करके झुग्गियों से बाहर निकाला। दमकल विभाग के कर्मचारी ने पवन कुमार व अनिल कुमार पुत्र अमरपाल को पीठ पर उठाकर झुग्गियों से बाहर निकाला और इनकी जान बचाई। आगजनी की इस घटना में राजू पुत्र नारायण सिंह व विनोद कुमार पुत्र गुरदयाल सिंह  की झुग्गियों समेत कपड़े, खाने का सामान, चारपाई, प्लास्टिक की पाइपें जलकर राख हो गई। जबकि पतरी देवी पत्नी शामकर्ण की स्कूटी भी आग की भेंट चढ़ गई। कुल मिलाकर आग की इस घटना में करीब 60 हजार का नुकसान हुआ है। जबकि साथ लगती अन्य झुग्गियों व बोरबेल को फायर विभाग की टीम ने आग की भेंट चढ़ने से बचाया है। जिला फायर अधिकारी ऊना नितिन धीमान ने बताया कि लालसिंगी में आगजनी की घटना में तीन झुग्गियां व एक एक्टिवा जलकर राख हो गई। जबकि फायर विभाग की टीम ने झुग्गियों के अंदर से दो बच्चों को बाहर निकालकर उनकी जान बचाई।

आग से सैकड़ों प्रवासी हुए बेघर

गर्मियों के इस सीजन में आगजनी की घटनाओं में दो प्रवासी बच्चों की जिंदा जलने से मौत हो गई थी। जबकि आग ने जिला में सैकड़ों प्रवासी परिवार को बेघर कर किया है।

You might also like