गद्दी समुदाय से पहले सांसद बने कपूर

गुरु शांता से लिया आशीर्वाद, आज दिल्ली कूच करेंगे कांगड़ा के नए एमपी

धर्मशाला  – रिकार्ड मतों से जीत हासिल करने वाले भाजपा प्रत्याशी किशन कपूर गद्दी समुदाय के पहले सांसद बन कर संसद की दहलीज पार करेंगे। कांगड़ा व चंबा में इस समुदाय के लाखों लोग रहते हैं। विधानसभा में अब तक समुदाय के करीब आधा दर्जन लोगों को पहुंचने का मौका मिल चुका है, लेकिन ऐसा पहली बार हो रहा है, जब इस समुदाय को लोकसभा में भी पहुंचने का सौभाग्य मिला है। चुनाव परिणामों को देखें तो भी पता चलता है कि जनजातीय समुदाय बहुल विस क्षेत्रों ने भी किशन कपूर की लीड दी है। कांगड़ा-चंबा में गद्दी समुदाय के करीब चार लाख वोटर बताए जा रहे हैं। ऐसे में बड़ी संख्या वाले इस समुदाय को प्रतिनिधित्व मिलने से लोगों में खुशी का माहौल है। उधर, किशन कपूर भी इस बात से खासे उत्साहित हैं कि उन्हें इस समुदाय के पहले व्यक्ति के रूप में संसद पहुंचने का अवसर मिला है। उन्हें इस बात को लेकर भी प्रसस्नता है कि अपने समुदाय के साथ-साथ कांगड़ा-चंबा के अन्य समुदायों ने भी दिल खोल कर समर्थन देते हुए चार लाख 77623 मतों की सबसे बड़ी जीत दिलाई है। शुक्रवार को अपने राजनीतिक गुरु शांता कुमार से आशीर्वाद लेने के बाद किशन कपूर उनके उत्तराधिकारी बनकर शनिवार सुबह ही दिल्ली रवाना हो जाएंगे।

किशन ने तोड़ा विक्रम महाजन का रिकार्ड

कांगड़ा संसदीय सीट से सबसे अधिक मत प्राप्त करने का रिकार्ड विक्रम महाजन के नाम था। उन्होंने वर्ष 1971 के लोकसभा चुनावों में 65.97 फीसदी वोट लेकर रिकार्ड बनाया था, लेकिन वर्ष 2019 में भाजपा प्रत्याशी किशन कपूर ने इस रिकार्ड को ध्वस्त करते हुए 72 फीसदी मत प्राप्त कर नया रिकार्ड बना दिया। विक्रम महाजन के अलावा इस सीट से 1984 में कांग्रेस प्रत्याशी चंद्रेश कुमारी को 62.45 फीसदी वोट मिले थे, लेकिन उस समय भी 1971 में बने रिकार्ड की बराबरी नहीं हो पाई थी। उस समय कुल चार लाख नौ हजार से 838 मतदाताओं से एक लाख 74 हजार 472 मतदाताओं ने अपने वोट डाले थे, जिनमें से विक्रम महाजन को एक लाख 11 हजार 276मत मिले थे।

You might also like