गलतफहमी मेें जीने वाले नेता अब समझ जाएं

मुख्यमंत्री बोले; सुखराम का गुमान उतर गया, कांग्रेस के बाकी नेता भी जनादेश को सहज स्वीकार करें

शिमला – मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि कुछ नेता अब भी इस गलतफहमी में हैं कि प्रदेश के लोग उनके इशारे पर चलते हैं। यह दौर अब लद गया है और हिमाचल की प्रबुद्ध जनता बेहद जागरूक है। इस कारण इस गलतफहमी में जी रहे लोगों को अब परिस्थतियों के मुताबिक अपनी पोजिशन समझ लेनी चाहिए। भाजपा को मिली प्रचंड जीत के बाद पहली बार प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम को भी यह गुमान था कि भाजपा की सरकार उनके सहयोग के बिना हिमाचल में नहीं बन सकती है। इसी तरह कुछ और नेता भी ऐसी ही गलतफहमी का शिकार हैं। सीएम ने कहा कि कांग्रेस के दिग्गज नेताओं को जनादेश सहजता से स्वीकार कर लेना चाहिए। उन्हें खुद आकलन करना चाहिए कि दिग्गज नेताओं के गृह चुनाव क्षेत्र में कांग्रेस का सूपड़ा साफ क्यों हुआ है? मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकसभा चुनावों में भाजपा को प्रदेश की चारों सीटों पर ऐतिहासिक जीत मिली है। जनादेश बढ़ने के बाद सरकार की जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ गई है। सरकार राज्य के विकास का नया एजेंडा तय करेगी। उन्होंने कहा कि फोकस एरिया क्या रहेगा, किन क्षेत्रों में विकास की ज्यादा जरूरत है, वहां पर कार्य किया जाएगा। इस पर होमवर्क शुरू कर दिया गया है। अक्तूबर महीने में इनवेस्टर मीट प्रस्तावित है। इसके बाद आगामी योजनाओं पर भी कार्य चल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पहला मौका है, जब प्रदेश के 68 विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा को लीड मिली है।

भाजपा का वोटिंग शेयर 68.41 प्रतिशत, देश में सबसे ज्यादा

हिमाचल में भाजपा का वोटिंग शेयर 68.41 है, जो देश भर में सबसे ज्यादा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के नौ विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा को 30 हजार से ज्यादा की लीड मिली है। 34 विस क्षेत्रों में 20 हजार से ज्यादा और 21 में 10 हजार से ज्यादा की लीड है। मुख्यमंत्री ने कहा कि नालागढ़ से सबसे ज्यादा 39 हजार 970 मतों की लीड प्राप्त हुई है। प्रदेश के किसी भी चुनावों में यह सबसे ज्यादा  लीड है। मुख्यमंत्री ने कहा कि रोहड़ू, रामपुर, अर्की, मंडी सदर जैसे विस हलकों में भी भाजपा को लीड मिली है।

सभी  68 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा किया; कम बोला और सुना ज्यादा

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा किया। विस क्षेत्रों के दौरे के दौरान बोला कम और लोगों को ज्यादा समझा। लोगों की क्या समस्याएं हैं उसे समझा और दूर करने का प्रयास किया।

You might also like