गुस्साए जेबीटी प्रशिक्षुओं ने निकाली रैली

रिकांगपिओ—बीएड धारकों को भी जेबीटी भर्ती के लिए मान्यता देने के फैसले का विरोध करते हुए मंगलवार को किन्नौर जि़ला जेबीटी बेरोजगार प्रशिक्षुओं व जिला शिक्षण व प्रशिक्षण संस्थान रिकांगपिओ संघ ने रैली निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया। रैली के बाद सहायक आयुक्त सलीम के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा। जेबीटी प्रशिक्षु इस बात का विरोध कर रहे थे कि बीएड करने वाले जेबीटी के पाठ्यक्रम में काफी अंतर है। इसी तरह बीएड प्रशिक्षु अभी तक जेबीटी टेट पास नहीं हैं। और न ही जेबीटी टेट के लिए बीएड कोई योग्यता है। ऐसे में जेबीटी कमीशन में भाग लेने का मौका दिया जाता है तो टेट पास जेबीटी अभियर्थियों के साथ अन्याय होगा। जिला शिक्षण व प्रशिक्षण संस्थान रिकांगपिओ के जेबीटी संघ उपाध्यक्ष पूर्ण चंदएसचिव प्रकाश आंनद व मीडिया प्रभारी सुभाग नेगी ने कहा कि बीएड को जेबीटी भर्ती में शामिल नहीं किया चाहिए। ऐसा करने से उन के साथ सरासर बेइनसााफी है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में बीस हजार से ज्यादा जेबीटी डिप्लोमा धारक हैं। बीएड को भर्ती के लिए मान्य करने से इनका भविष्य खतरे में पड़ गया है। उन्होंने मांग किया कि जेबीटी कमीशन के लिए जो परीक्षा ली थीएउस मे 36 हजार अभ्यर्थीयों ने भाग लिया है। बीएड डिग्री धारगो को पात्र न मान कर उन्हें उक्त परिक्षा के परिणाम में शामिल ना किया जाए। परीक्षा परिणाम के बाद दस्तावेज सत्यापन के लिए केवल जेबीटीडीएलएड अभ्यर्थियों को ही बुलाया जाए।

You might also like