ग्राहकों को राहत, कर्मियों को आफत

नेरवा -खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की चौपाल स्थित गैस एजेंसी द्वारा घरेलू गैस उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए की गई व्यवस्था से उपभोक्ताओं तो राहत मिल गई है,परन्तु गैस वितरण करने वाले कर्मचारियों के लिए यह सर दर्द बन गई है।  बता दें कि नेरवा में घरेलु गैस के लिए होने वाली धक्का-मुक्की से उपभोक्ताओं को निजात दिलवाने के लिए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की चौपाल स्थित एजेंसी ने नेरवा में ही महीने में दो दो दिन दो बार बुकिंग कर गैस की पर्चियां काटने की व्यवस्था कर दी है। नेरवा में बनाये गए अस्थाई काउंटर पर हर महीने की एक दो व पंद्रह सोलह तारीख को एजेंसी कर्मचारी आकर गैस की पर्चियां काटता है और उसी दिन नेरवा में गैस सप्लाई आने के तिथि भी बताई जाती है। एजेंसी की इस व्यवस्था के बाद लोगों को गैस लेने के लिए होने वाली मारामारी से तो लोगों को छुटकारा मिल गया, परंतु यह व्यवस्था एजेंसी कर्मचारियों के लिए सिरदर्द बन गई है। कुछ ऐसे उपभोक्ता जो पर्ची तो कटवा लेते हैं,परंतु एजेंसी द्वारा निर्धारित तिथि पर गैस नहीं लेते हैं एवं दूसरी तिथि पर आ कर गैस वितरण करने वाले कर्मचारियों से पुरानी पर्ची पर गैस सिलेंडर देने की मांग करते हुए उलझ पड़ते हैं।  गैस एजेंसी इंचार्ज चौपाल वीरेंद्र शर्मा ने कहा कि नेरवा आने वाली गाड़ी में निर्धारित तिथियों में हुई बुकिंग व काटी गई पर्चियों के आधार पर मात्र उतनी ही संख्या में सिलेंडर लाये जाते हैं।  इस के अतिरिक्त सिलेंडर के दामों में भी उतार चढ़ाव आता रहता है,लिहाजा ऐसी स्थिति में दूसरी तिथि में पहली तिथि के लिए काटी गई पर्ची पर गैस की सप्लाई देना मुमकिन नहीं है।  ऐसे में कई बार देखा गया है उपभोक्ता गैस वितरण करने वाले कर्मियों से उलझ पड़ते हैं,जिस वजह से कई बार गैस वितरण में वाधा भी आ जाती है।  उपभोक्ताओं व गैस कर्मियों के बीच होने वाली इस किच किच को देखते हुए व्यापार मंडल नेरवा ने नेरवा के सभी गैस उपभोक्ताओं से निर्धारित तिथि पर ही गैस सिलेंडर लेने का अनुरोध किया है,ताकि नेरवा वासियों की सुविधा के लिए बनाया गया एजेंसी का यह बुकिंग काउंटर सही तरीके से चल सके व लोगों को इसकी सुविधा निरंतर मिलती रहे।

You might also like