घर की चार दिवारी से आजाद हाेंगे बच्‍चे

 गगरेट—परिस्थितियां अनुकूल रहीं तो गगरेट कस्बे की जनता को जल्द पार्क का तोहफा मिल सकता है। एक ऐसा पार्क जहां बच्चों के लिए झूले होंगे और बुजुर्ग भी आराम से बैठकर आपस में बतिया सकेंगे। अब तक बिना कोई खेल मैदान व बिना किसी पार्क के अपने घर में ही कैद रहने को मजबूर कस्बे के लोगों को पार्क का तोहफा देने के लिए विधायक राजेश ठाकुर ने पहल की है। कस्बे की प्राइम लोकेशन पर पंचायत समिति की भूमि को नगर पंचायत के नाम हस्तांतरित करने के लिए मंगलवार को मौका देखने आए उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति ने भी नगर पंचायत प्रशासन से कदम आगे बढ़ाने को कहा है। औपचारिकताएं पूरी कर यह भूमि नगर पंचायत के नाम हस्तांतरित की जा सके और कस्बे के लोगों को शीघ्र पार्क का तोहफा मिल सके। गगरेट कस्बा जिले का ऐसा कस्बा है, जिसे रुतबा तो नगर पंचायत का मिला है यानी यह कस्बा जिला के शहरी इलाकों में शुमार है, लेकिन सुविधाएं न के बराबर हैं। इस कस्बे में युवाओं के खेलने के लिए न तो कोई खेल का मैदान है और न ही कोई पार्क है। ऐसे में बच्चे हों या फिर बड़े बुजुर्ग वे सुबह-शाम टहलने कहां जाएं उन्हें भी शायद इसका पता नहीं है। हालांकि कस्बे की प्राइम लोकेशन पर पंचायत समिति की भूमि है। इस पर कुछ दुकानें होने के साथ खंड विकास कार्यालय में कार्यरत स्टाफ के लिए एक कालोनी बनी है जोकि बिलकुल जर्जर हालत में पहुंच चुकी है। इस स्थान पर बामुश्किल पशु रह सकते हैं वहां मजबूरी में खंड विकास कार्यालय का स्टाफ अपने परिवार सहित रह रहा है। इसी के साथ जर्जर हालत में पहुंच चुकी पशु पालन विभाग की एक इंस्पेक्शन हट है। कस्बे की जनता को पार्क की सुविधा मिल सके इसके लिए विधायक राजेश ठाकुर ने पहल करते हुए पंचायत समिति की जमीन को नगर पंचायत के नाम हस्तांतरण करवाने की पहल की है। उन्होंने यह मुद्दा उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति के समक्ष उठाया। इस पर मंगलवार को उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति ने यहां आकर स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने भी विधायक की मांग को तर्कसंगत ठहराया और नगर पंचायत प्रशासन को उक्त भूमि नगर पंचायत के नाम हस्तांतरित करने के लिए आवेदन करने को कहा है। जाहिर है कि अगर यहां पार्क बना तो यह कस्बे की जनता के लिए किसी नायाब तोहफे से कम नहीं होगा। मंगलवार को उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति, विधायक राजेश ठाकुर के साथ यहां पहुंचे नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष डा. श्याम वर्मा, जिला परिषद सदस्य रमेश हीर, भाजपा मीडिया प्रभारी राकेश जसवाल, युवा नेता शिव दयाल ने भी इसे विधायक की दूरगामी सोच बताते हुए इसे कस्बे के लिए नायाब तोहफा करार दिया। वहीं, विधायक राजेश ठाकुर का कहना है कि जर्जर हालत में पहुंच गए स्टाफ क्वार्टर कहीं ओर शिफ्ट किए जा सकते हैं और यहां पार्क की सुविधा नगरवासियों के लिए उपलब्ध करवाई जा सकती है और इसी के लिए वह लगातार प्रयासरत हैं।

You might also like