चंडीगढ़ में बढ़ेंगे बिजली-पानी के रेट

प्रशासन ने तैयार किया शेड्यूल; लागू होंगे नए नियम, वित्तीय हालात सुधारने को जून से लगेगा सीवरेज और गो-सेस

चंडीगढ़ -लोकसभा चुनाव खत्म, अब टैक्स लगाने की बारी। जी हां, चंडीगढ़ के लोग बढ़ा हुआ बिजली और पानी का बिल देने के लिए तैयार हो जाएं। नगर निगम ने पिछले साल अपनी वित्तीय हालत सुधारने के लिए पानी के बिल पर 30 प्रतिशत सीवरेज सेस और बिजली पर गो सेस लगाने का जो प्रस्ताव पास किया था। उसे अगले महीने मंजूरी देने जा रहा है। इससे पहले लोकसभा चुनाव होने के कारण प्रशासन ने भाजपा के दबाव में इसकी अधिसूचना पर रोक लगा दी थी। नगर निगम ने बिजली की हर यूनिट पर दो पैसे गो सेस चार्ज करने का फैसला लिया है। इसके अलावा शराब की बोतल और नए वाहन की खरीद पर गो सेस चार्ज करने का प्रस्ताव पास किया गया है। नगर निगम ने खरीदी जाने वाली हर नई कार पर एक हजार रुपए और दोपहिया वाहन पर 500 रुपए गो सेस चार्ज करने का फैसला लिया हुआ है। जोकि अब लागू होगा। इस समय पंजाब में यह गो सेस चार्ज किया जा रहा है। पंजाब के आधार पर ही इस प्रस्ताव को पास किया गया है, क्योंकि शहर में पंजाब म्यूनिसिपल एक्ट लागू हैं। जबकि हर देसी शराब की बोतल पर पांव रुपए, बीयर पर पांच और अंग्रेजी पर दस रुपए प्रति बोतल के हिसाब से गो सेस चुनाव के बाद चार्ज किया जाएगा।

58 करोड़ रुपए होगी अतिरिक्त आमदनी

गो सेस और पानी के कुल बिल में 30 प्रतिशत सीवरेज सेस लगाने का फैसला लागू होने से नगर निगम की 48 करोड़ रुपये की कमाई हर साल बढ़ जाएगी। 58 करोड़ में से 20 सीवरेज सेस, चार बिजली और 24 करोड़ रुपए की कमाई नए खरीदे जाने वाले वाहनों पर लगाए गए गो सेस से होगी। जबकि बिजली पर नगर निगम को सेस लगने से हर साल दस करोड़ की कमाई होगी।

You might also like