चंडीगढ़ में मोदी के दौरे ने लाई प्रचार में तेजी

यूटी में गठबंधन प्रत्याशी किरण खेर की जीत के प्रयासों में जुटी पार्टी, प्रधानमंत्री की रैली ने भरा कार्यकर्ताओ में जोश

चंडीगढ़ – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चंडीगढ़ दौरे ने भारतीय जनता पार्टी व शिरोमणि अकाली दल प्रत्याशी किरण खेर के लिए संजीवनी का काम किया है। इस दौरे के बाद किरण खेर की चुनाव मुहिम का स्वरूप पूरी तरह से बदल गया है। मोदी की रैली में जुटी भीड़ से जहां भाजपा हाई कमान पूरी तरह से संतुष्ट है, वहीं किरण खेर भी अब एक नए जोश के साथ प्रचार को अंतिम पड़ाव तक पहुंचाने में जुट गई हैं। चंडीगढ़ लोकसभा सीट के लिए 17 मई तक चुनाव प्रचार होगा। जिसके चलते बुधवार से यह चुनाव प्रचार और तेज हो गया। इससे पहले मंगलवार की शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चंडीगढ़ रैली का अगर विशलेषण किया जाए, तो एक बात साफ  है कि चंडीगढ़ वासी किरण खेर को जिताने के लिए अब एकजुट हो रहे हैं। इस रैली में जुटी भीड़ यह संकेत भी दे रही है कि शहर के लोग खेर को वोट डालकर प्रधानमंत्री मोदी की ताकत को बढ़ाना चाहते हैं।  मोदी ने अपने भाषण के दौरान शहर की राजनीति में पड़ने की बजाय खुद को चंडीगढ़ से सीधा कनेक्ट करने की कोशिश की। मोदी ने अपने भाषण के दौरान कुल 28 बार चंडीगढ़ का नाम लिया, वहीं आठ बार उन्होंने लोगों के साथ अपने चंडीगढ़ से जुड़े संस्मरणों को साझा किया। यही नहीं मोदी ने अपने भाषण के दौरान पांच बार चंडीगढ़ वासियों की तारीफ की और तीन बार चंडीगढ़ के साहसी युवाओं का उल्लेख किया। चंडीगढ़ भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के अनुसार रैली स्थल पर जितने लोग पंडाल के भीतर थे, उतने ही लोग पंडाल के बाहर तथा सड़कों पर थे। हजारों की संख्या में लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी का भाषण एलईडी स्क्रीन पर सुना। उन्होंने कहा इस रैली के बाद चंडीगढ़ के चुनावी समीकरण पूरी तरह से बदल गए हैं। उन्होंने यह भी कहा है कि इस बार भाजपा देश में पूरी सीटें जीतेगी और प्रधानमंत्री फिर से पीएम बनेंगे। उन्होंने यह भी दावा किया कि यह रैली किरण खेर की जीत में अहम भूमिका निभाएगी। उनका दावा है रैली में हजारों की संख्या में लोग पहुंचे जो कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की रैली से दोगुणा थे।

आज से अनुपम खेर मांगेंगे पत्नी के लिए वोट

लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार अंतिम चरण में पहुंच चुका है। ऐसे में भाजपा प्रत्याशी किरण खेर के पति अनुपम खेर भी गुरुवार को चुनाव प्रचार करेंगे। अनुपम खेर इससे पहले भी शहर में अपनी पत्नी के लिए चुनाव प्रचार कर चुके हैं। उन्होंने तीन दिनों तक प्रचार किया था। अनुपम खेर गुरुवार की सुबह करीब साढे पांच बजे जहां शहर के गार्डन में सुबह सैर करने के लिए आने वाले लोगों से मिलकर चुनाव प्रचार शुरू करेंगे, वहीं पार्टी कार्यालय कमलम् में कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे और फिर शहर में होने वाली जनसभाओं में भाग लेंगे। अंतिम दो दिन अनुपम खेर प्रचार में पूरी ताकत झोंक देंगे।

You might also like