चंबा में हक के लिए सड़कोंं पर उतरे जेबीटी

बीएड अभ्यर्थियों को जेबीटी कमीशन से हटाने की मांग को लेकर निकाली रैली

चंबा—जेबीटी प्रशिक्षुओं ने मंगलवार को बीएड अभ्यर्थियों को जेबीटी कमीशन से हटाने की मांग को लेकर जिला मुख्यालय में जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रशिक्षुओं ने शहर में रैली भी निकाली। हक की मांग के नारों के बीच चौगान से आरंभ हुई रैली पूरे शहर की परिक्रमा के उपरांत डीसी आफिस के बाहर आकर समाप्त हुई। तदोपरांत जेबीटी प्रशिक्षुओं ने बीएड अभ्यर्थियों को जेबीटी कमीशन से हटाने की मांग को लेकर डीसी हरिकेश मीणा के माध्यम से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को ज्ञापन भी प्रेषित किया।  जेबीटी प्रशिक्षु रोबी, मनोज नैयर, अक्षय कुमार, सुनील कुमार, देव प्रकाश, अशोक कुमार, सुरेंद्र सिंह, देवराज, ममता कुमारी, संतोष कुमारी, रोहिना कुमारी व नेहा कुमारी ने बताया कि 12 मई को जेबीटी कमीशन हुआ था, जिसमें 36000 अभ्यर्थियों ने भाग लिया। इसमें जेबीटी डीएलईडी के सात हजार और बीएड के 33000 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी, जो कि जेबीटी डीएलईडी प्रशिक्षुओं के साथ अन्याय है। जेबीटी प्रशिक्षुओं ने बताया कि जेबीटी का पाठयक्रम प्राथमिक कक्षाओं के लिए है, जबकि बीएड का पाठ्यक्रम माध्यमिक कक्षाओं के लिए है। उन्होंने बताया कि नवंबर 2017 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा निर्णय लिया गया था कि उच्च योग्यता रखने वाले विद्यार्थी निम्न योग्यता रखने वाले अभ्यर्थियों के साथ परीक्षा में किसी भी रूप में मान्य नहीं होंगे। उन्होंने बताया कि इस बारे वे पहले भी कई बार गुहार लगा चुके है, लेकिन अभी तक कोई सकारात्मक पहल नहीं हो पाई है। उन्होंने सरकार से गुहार लगाई है कि बीएड प्रशिक्षुओं को जेबीटी कमीशन से हटाया जाए। उन्होंने साथ ही मांग उठाई कि जेबीटी अध्यापकों की भर्ती जिला कैडर के तहत करवाई जाए। बहरहाल, मंगलवार को जेबीटी प्रशिक्षुओं ने बीएड अभ्यर्थियों को  कमीशन से हटाने की मांग को लेकर रैली निकाली।

You might also like