चंबा @32 डिग्री

चंबा—मैदानों में पड़ रही आग बरसने वाली गर्मी के बाद अब पहाड़ भी तपने लगे हैं। चंबा में पिछले तीन चार दिनों से खिल रही प्रचंड धूप से दिन के समय अंगारे बरसाने वाली गर्मी पड़ने लगी है। दिन के समय खिल रही चिचिलाती धूप में पड़ रही लू ने लोगों का पैदल आने-जाने सफर भी खत्म कर दिया है। न चाहते हुए भी गर्मी की आहट से परेशान लोग किसी तरह के कार्य के लिए आने जाने में वाहनों का सहारा लेने लगे हैं। पैदल आने जाने वालों की चहल-पहल खत्म होने से सड़के व मार्ग वीरान होने लगे हैं। गर्मी से बचने के लिए लोगों को घरों से लेकर दफतरों तक दिनभर पंखों व एयर कंडीशनर का सहारा लेना पड़ रहा है। दिन के समय पड़ रही आग बरसाने वाली गर्मी से बाजरों में कोल्ड ड्रिंक, आईसक्रीम, गोल गफे, कुल्फी, जूस, फू्रट सहित खाने पीने में  विभिन्न तरह की ठंडी वस्तुओं की डिमांड बढ़ गई है। पहाड़ी जिला चंबा के मैदानी इलाकों में तो दिन के  समय घरों से बाहर निकलना भी मुशिकल होने लगा है। विभिन्न स्कूलों कॉलेजों में शिक्षा गृहण कर रहे युवा धूप से बचने के लिए छातों का सहारा लेने लगे हैं। सोमवार को दिन के वक्त खिली प्रचंड धूप के बाद पहाड़ी जिला चंबा का अधिकतम तापमान 32.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। वहीं खजियार में भी दिन के वक्त पारा 30 डिग्री को टच करने लगा है। हालांकि जिला के कई क्षेत्रों में शाम के वक्त अचानक मौसम का मिजाज पलटने के बाद गरजनों के साथ बारिश होने एवं जोरदार हवाएं चलने से ठंडक की स्थिति भी बन रही है। उध र पंजाब, हरियाणा जैसे मैदानों इलाकों में पड़ रही आग बरसाने वाले गर्मी से बचने के लिए लोग पहाड़़ों की तरफ भागने लगे हैं। जिससे पर्यटन नगरी डलहौजी, खजियार व जोत सहित चंबा के कई आकर्षक प्लेस पर्यटकों से गुलजार होने लगे हैं।

You might also like