चट्टान को काटने के लिए लगी नौ हेवी मशीनें

धर्मपुर(सोलन)—कालका-शिमला नेशनल हाई-वे पांच पर सनवारा के समीप चट्टान को काटने के लिए नौ हेवी मशीनें, चार इंजीनियर, दो सीनियर इंजीनियर, 12 मजदूर सहित पूरा प्रशासनिक अमला रात भर तैनात रहा। नेशनल हाई-वे समय पर लोगों को परेशानी न हो इसके लिए शनिवार रात को चट्टान को काटा गया। हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि इस चट्टान को फोरलेन निमाज़्ण कर रही जीआर इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी बिना ब्लास्ट किए मशीनों से काटा है और इसे काटने के लिए जियोलॉजी सवेज़् की सलाह भी ली गई है। चट्टान आसानी से काटी जाए इसके लिए कंपनी व जिला प्रशासन द्वारा एक मिशन तैयार किया गया जिसके बाद चट्टान को काटने का रेस्क्यू किया गया, जो कि पूरी तरह सफल रहा। शनिवार रात  हाई-वे पर चले कार्य की हर पल की जानकारी व मोनीटरिंग जिला प्रशासन ने की है। हालांकि लोगों को इसकी सूचना काफी लेट मिलने से परेशानी का सामना करना पड़ा है। जानकारी के अनुसार सनवारा के समीप एक चट्टान पर क्रेक आने से खतरा उत्पन्न हो गया था। खतरे को भांपते हुए जिला प्रशासन ने मौके पर जाकर चट्टान का मुआयना किया व इसे तुरंत काटने के लिए कहा गया। इसके पश्चात शनिवार देर शाम जिला प्रशासन ने सुरक्षा की दृष्टि से नेशनल हाई-वे पांच पर चक्कीमोड से कुमारहट्टी तक हाई-वे को वाहनों की आवाजाही बंद रखने के आदेश जारी किए और आदेशानुसार हाई-वे को शनिवार रात नौ बजे से सुबह चार बजे तक बंद रखा गया लेकिन रोड क्लियर न होने के चलते छह घंटे का अतिरिक्त समय लग गया। बताया जा रहा है कि इस चट्टान को काटने के लिए  रविवार का दिन रखा गया था, लेकिन चट्टान में दरारंे आने से चट्टान को शनिवार को ही काटना उचित समझा गया। बता दें कि इस कड़ी को करने के लिए दो एक्सीवेटर विद बकेट, चार एक्सीवेटर विद ब्रेकर, एक ग्राडर, दो जेसीबी, चार डंपर, एक वाटर टैंकर, चार इंजीनियर, दो सीनियर इंजीनियर, एक प्रोजेक्ट मैनेजर, एक डिप्टी प्रोजेक्ट मैनेजर, 12 लेबर ने कार्य किया है, जिन्होंने इस कार्य को सफलता पूर्वक पूरा करने के लिए वैज्ञानिक तरीके से रात भर कार्य किया है। यही सब नहीं एसपी सोलन मधुसूदन शर्मा, एडीएम सोलन विवेक, एसडीएम सोलन रोहित राठौर, डीएसपी, योगेश रोल्टा, थाना प्रभारी धर्मपुर दया राम सहित एक सौ से अधिक पुलिस कर्मी हाई-वे पर तैनात रहे। इसके अतिरिक्त कोई अनहोनी से बचने के लिए मौके पर दो एंबुलेंस, फायर ब्रिगेड व डाक्टर की टीम भी पूरी रात साथ रही। इस बारे में राजीव पठानिया प्रोजेक्ट मैनेजर,जीआर इंफ्रास्ट्रक्चर ने कहा कि सनवारा के समीप चट्टान को काटना महत्त्वपूर्ण हो गया था। एक मिशन बनाकर इस चट्टान को शनिवार रात को काट दिया गया है। इसके लिए जिला प्रशासन का अधिक सहयोग रहा है।

You might also like