चुनावी शोर में हिमाचल में सुकून

लोकसभा चुनावों की किचकिच में पहाड़ की शांति बरकरार, पिछले साल के मुकाबले ज्यादा पहुंच रहे पर्यटक 

शिमला —चुनावी शोरगुल से दूर लोग सुकून ढूंढ रहे हैं और इसके लिए पर्यटक हिमाचल का रुख कर रहे हैं। आंकड़े इसकी गवाही देते हैं कि पिछले साल के मुकाबले इस पर्यटन सीजन प्रदेश में पर्यटकों की आमद बढ़ी है। प्रदेश में इन दिनों पर्यटन सीजन चरम पर है। हालांकि यहां भी चुनावी शोरगुल है, परंतु दूसरे प्रदेशों के मुकाबले यह शोर उतना अधिक सुनाई नहीं दे रहा। पहाड़ की शांति बरकरार है और इस शांति में देवभूमि का माहौल भी बेहतर है। यहां मौसम खुशमिजाज है और ऐसे मौसम का मजा लेने के लिए बाहर से बड़ी संख्या में पर्यटक सैरगाहें गुलजार हो चुकी हैं। अभी ग्रीष्मकालीन छुट्टियों में यह सीजन और बढ़ेगा। राज्य में जनवरी से लेकर अब तक 74 लाख 82 हजार 803 पर्यटक पहुंच चुके हैं। पिछले साल इसी सीजन में 51 लाख  83 हजार 515 पर्यटक आए थे। उस साल राजधानी शिमला में बड़ा जलसंकट हुआ था, जिससे विश्व भर में शिमला का नाम भी बदनाम हुआ। इस जलसंकट के कारण यहां पर्यटक व्यवसायियों को बड़ा नुकसान उठाना पड़ा था, लेकिन अब स्थिति में सुधार आ चुका है। शिमला में अब पानी की कोई कमी नहीं, बल्कि क्षमता से अधिक पानी की व्यवस्था यहां हो चुकी है। इसी तरह राज्य की दूसरी पर्यटक सैरगाहें भी गुलजार हैं, जहां लगातार पर्यटकों की आमद बढ़़ रही है। शिमला की बात करें, तो यहां पर्यटकों की काफी ज्यादा आमद होने के कारण रोजाना सड़कों पर जाम लग रहा है, जिससे स्थानीय लोगों को दिक्कत हो रही है। शहर में तीन नई पार्किंग ने भी बड़़ी सुविधा प्रदान की है, जिस पर अभी और काम होना जरूरी है। कुफरी, चायल, नारकंडा, नालदेहरा में पर्यटन सीजन जोरों पर है। शिमला में होटल व्यवसायी पर्यटकों के ठहराव को बढ़ाने के लिए अपनी ओर से भी मेहनत कर रहे हैं, जो टूरिस्ट्स को नए डेस्टिनेशन के बारे में जागरूक कर रहे हैं। इसी तरह राज्य की दूसरी सैरगाहों में भी पर्यटकों की आमद बढ़ी है। कुल्लू, मनाली, धर्मशाला, मकलोडगंज, डलहौजी आदि स्थानों पर भी पर्यटकों की संख्या बढ़ी है।

छुट्टियों का इंतजार

कुछ दिन बाद स्कूलों में ग्रीष्मकालीन अवकाश भी शुरू हो जाएंगे और उस दौरान और लोग हिमाचल आएंगे। पर्यटन कारोबारी उन छुट्टियों का भी इंतजार कर रहे हैं, जिन्हें उम्मीद है कि सीजन काफी बेहतरीन रहेगा।

एडवांस बुकिंग शुरू

निगम की प्रबंध निदेशक कुमुद सिंह का कहना है कि चुनावी माहौल निपटने और अवकाश के बाद सीजन उफान पर होगा। उनके होटलों में आगे तक की बुकिंग हो चुकी है और बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंच रहे हैं। पर्यटन निगम ने सैलानियों की सुविधा के लिए सभी इंतजाम कर रखे हैं।

पिछले साल इतने आए

पिछले साल प्रदेश में कुल एक करोड़ 64 लाख 50 हजार 503 पर्यटक पूरे साल में आए थे। इसमें देशी पर्यटकों की संख्या एक करोड़ 60 लाख 93 हजार 935 थी, वहीं विदेशी पर्यटकों की संख्या तीन लाख 56 हजार 568 थी।

You might also like