चुनावों के लिए खोली रोहतांग टनल से हो रहा सैर-सपाटा

चुनाव आयोग ने डीसी लाहुल से पूछा, 12 मई को 457 लोग लाहुल घाटी गए, उसी दिन 351 कैसे लौट आए

शिमला – चुनावी उद्देश्य से खोली गई रोहतांग टनल का प्रयोग सैर-सपाटे के लिए हुआ है। यह आशंका जताते हुए चुनाव आयोग ने डीसी लाहुल से जवाब तलब किया है। चुनाव आयोग ने पूछा है कि यह कैसे संभव है कि टनल खोलने के बाद 457 लोग लाहुल घाटी रवाना हुए और उसी दिन 351 लौट आए। सर्दियों के दौरान कुल्लू में पलायन करने वाले लाहुल स्पीति के मतदाताओं के लिए निर्माणाधीन टनल को यातायात के लिए खोला गया था। अहम है कि केंद्रीय चुनाव आयोग के निर्देश पर सीमा सड़क संगठन ने 12 मई को रोहतांग टनल खोली थी। बताते चलें कि भारी हिमपात के कारण रोहतांग दर्रा अभी तक यातायात के लिए बहाल नहीं हो पाया है। इसके चलते अक्तूबर-नवंबर माह के दौरान कुल्लू जिला में पलायन कर चुके लोगों की वापसी नहीं हो पा रही थी। खराब मौसम तथा हेलिकॉप्टर में आई तकनीकी खराबी के कारण हवाई उड़ानें भी जनजातीय जिला लाहुल में प्रभावित रही हैं। लिहाजा जिला लाहुल-स्पीति में वोट प्रतिशतता बढ़ाने के लिए चुनाव आयोग ने 12 मई को रोहतांग टनल खोलकर घाटी में फंसे लोगों को लाहुल भेजने के फरमान दिए थे। इसके लिए लाहुल स्पीति जिला के प्रशासन को ग्राउंड वर्क तैयार करने को कहा था। इसी कड़ी में प्रशासन को निर्देश दिए थे कि पलायन कर कुल्लू पहुंचे लाहुल स्पीति के मतदाताओं की 12 मई को वापसी सुनिश्चित की जाए। इस अभियान की चुनाव आयोग ने रिपोर्ट भी तलब की थी। इस आधार पर स्पष्ट हुआ है कि 12 मई को कुल्लू से 457 लोगों को रोहतांग टनल से भेजा गया था। इसी दिन 351 लोगों की वापसी का आंकड़ा दर्ज है। चुनाव आयोग को प्रशासन की यह रिपोर्ट अखर गई है। इसके चलते संभावना यह जताई जा रही है कि 12 मई को कहीं रोहतांग टनल का प्रयोग सैर-सपाटे के लिए तो नहीं हुआ है? हो सकता है कि इस दिन पर्यटक रोहतांग टनल का लाभ उठाकर सीसू और रोहतांग दर्रे को निहार आए हों। बहरहाल चुनाव आयोग ने डीसी लाहुल स्पीति से इस पर जवाब तलब किया है। इसमें कहा गया है कि इस दिन कितने चुनावी कर्मियों और मतदाताओं को कुल्लू से लाहुल लाया गया था।

अब तक सुरंग से 1177 लोग भेजे गए

प्रशासन ने रिपोर्ट में कहा है कि रोहतांग टनल से अब तक 97 मरीज, 232 कर्मचारी और 848 स्थानीय लोगों को भेजा गया है।

यातायात के लिए सुरंग खोलने पर असमंजस

चुनाव आयोग ने 15 मई से 19 मई तक रोहतांग टनल को यातायात के लिए खोलने का आह्वान किया है। हालांकि निर्माणाधीन टनल में वाहनों की आवाजाही आसान नहीं है। इसके चलते सीमा सड़क संगठन मार्ग ने अभी तक स्थिति स्पष्ट नहीं की है।

You might also like