चुनाव के बाद विदेश जाएगी सरकार

 शिमला —विदेशी कंपनियों को हिमाचल में लाने के लिए रणनीति तैयार कर ली है। सूत्रों के अनुसार इनवेस्टमेंट के लिए सरकार यूएई, जर्मनी व नीदरलैंड जाने वाली है। चुनाव प्रक्रिया पूरी होने के बाद जून महीने में सरकार विदेश यात्राओं पर रहेगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के साथ  निवेश से जुड़ी उनकी टीम विदेशों की यात्रा करेगी और वहां पर विदेशी कंपनियों के बीच हिमाचल में निवेश का प्रस्ताव दिया जाएगा। प्रदेश सरकार को उम्मीद है कि विदेशों से हिमाचल में बड़े पैमाने पर निवेश आएगा, जिसकी संभावनाओं पर काम किया जा रहा है। पिछले कुछ दिनों में विदेशी प्रतिनिधियों व उच्चायुक्तों के साथ यहां अधिकारियों ने बैठकें भी की हैं, जिसमें बेहतर संभावनाएं पाई गई हैं। सूत्र बताते हैं कि सरकार 10 से 13 जून तक जर्मनी जाएगी और वहां पर कंपनियों के साथ बैठकें कर उन्हें हिमाचल में निवेश के लिए आमंत्रित करेगी। इसके बाद 13 से 16 जून तक सरकार नीदरलैंड के दौरे पर रहेगी, जहां पर भी हिमाचल में निवेश को लेकर खासी संभावनाएं देखी गई हैं। हालांकि यह प्लान कितना फलीभूत होता है यह समय ही बताएगा। इसके बाद 23 जून से सरकार यूएई के दौरे पर होगी, जहां पर 26 जून तक अलग-अलग कंपनियों के प्रतिनिधियों से मीटिंग होगी। 26 जून को ही मुख्यमंत्री की नेतृत्व वाली टीम वहां से वापस आएगी और मुंबई में अगला रोड शो किया जाएगा।  गौर हो कि मुंबई देश का महानगर है और वहां पर नामी कंपनियों का पूरा जखीरा है। महानगरों में दूसरे चरण का सरकार का  पहला रोड शो मुंबई में होगा। इसके लिए सरकार ने 26 से 29 जून का समय निर्धारित किया है। इस दौरान वहां पर भी बड़ी कंपनियों के साथ बैठकें कर उन्हें हिमाचल बुलाया जाएगा। बताया जा रहा है कि इसके बाद जुलाई महीने का शेडयूल भी बनाया जाएगा।

सितंबर में धर्मशाला में इनवेस्टर मीट

सितंबर महीने में यहां पर धर्मशाला में इनवेस्टर मीट होगी, जिसके लिए निवेशकों को आमंत्रित करने की मुहिम तेज हो चुकी है। हैदराबाद व बंगलूर में दो रोड शो हो चुके हैं, जिसके बाद अब विदेशों का रुख किया जाएगा। 23 मई को चुनाव की प्रक्रिया भी पूरी हो जाएगी और जून में सरकार इस काम में पूरी तरह से जुट जाएगी। हिमाचल में 85 हजार करोड़ रुपए के निवेश को लेकर यह प्रयास किए जा रहे हैं। अधिकारियों को मानना है कि निवेश का यह आंकड़ा जल्द छू लिया जाएगा।

You might also like