चुनाव नतीजे बनाएंगे कांग्रेस की नई टीम

परिणाम के बाद पार्टी में बदलाव तय, कई सुक्खू समर्थक अभी भी ओहदेदार

शिमला —लोकसभा चुनाव के लिए मतदान हो चुका है। 23 मई को चुनाव नतीजे आएंगे। चुनाव नतीजे तय करेंगे कि कांगे्रस संगठन में किस स्तर का बदलाव होगा। संगठन में बदलाव तय है, क्योंकि पार्टी ने चुनाव से पहले अध्यक्ष की कुर्सी बदली थी, लेकिन अध्यक्ष ने उन ओहदेदारों को नहीं बदला, जो कि टीम सुक्खू में काम कर रहे थे। अब समय आ गया है कि कांगे्रस की नई टीम तैयार की जाए और यह तय चुनाव नतीजे तय करेंगे। संगठन में बदलाव होना है, जिसे पहले से तय माना जा रहा है। दिक्कत केवल लोकसभा चुनाव की थी, जिसकी प्रक्रिया अब पूरी हो रही है। प्रदेश में कांग्रेस के लिए लोकसभा के चुनाव कैसे रहेंगे यह 23 मई का दिन बताएगा, लेकिन इससे पहले एग्जिट पोल में यहां कांग्रेस का सफाया दिखाया गया है। हालांकि कांग्रेस नेता इसे मानने को तैयार नहीं हैं। ऐसे में चुनाव नतीजे आने के बाद जीत और हार की समीक्षा तो होगी, साथ ही यहां पर संगठन में बदलाव भी संभव है। कांग्रेस संगठन में जो पदाधिकारी  हैं, उनमें कई ओहदों पर टीम सुक्खू से हैं, लेकिन चुनाव में उनकी भूमिका ज्यादा नहीं दिखाई दी, जिसको लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। इसमें यह भी कहा जा रहा है कि उन्हें पूरी तरह से काम करने का मौका नहीं दिया गया, क्योंकि नए अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने इनके साथ अपनी टीम के पदाधिकारी भी लगाए थे और प्रमुख जिम्मेदारियां उन्हीं को सौंपी गई थीं। अब चुनाव के नतीजे बताएंगे कि कुलदीप सिंह राठौर की इस टीम का कितना जलवा रहा या फिर इनका चुनाव प्रबंधन पूरी तरह से फेल रहा। वैसे कई मामलों में इनकी खामियां सामने आ चुकी हैं, जो चुनाव में नतीजों पर भारी पड़ेंगी। साथ ही इस प्रबंधन की पोल खोलने के लिए कांग्रेस का एक धड़ा भी तैयार बैठा है, जिसने बीच-बीच में इसके संकेत भी दिए। कांग्रेस का यह गुट सीधे राहुल गांधी के पास पैठ रखता है।

चुनाव में वीरभद्र सिंह ही मुख्य स्टार प्रचारक

कांग्रेस की ओर से चुनाव में वीरभद्र सिंह ही मुख्य स्टार प्रचारक थे, लेकिन वीरभद्र सिंह भी संगठन के साथ मिलकर काम करते रहे हैं। इसमें कोई अतिश्योक्ति नहीं कि पहले भी वीरभद्र सिंह संगठन के कामकाज को कोसते रहे हैं, लेकिन तब समय सुखविंदर सिंह सुक्खू का था। अब समय बदला है और यह बदलाव चुनाव नतीजों पर कितना असर डालेगा, इसकी समीक्षा जरूर होगी। फिलहाल संगठन में बदलाव होना तय है।

You might also like