चुनाव से पहले हक न मिला तो…

चंबा –जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान सरू में जेबीटी प्रशिक्षुओं की एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता कक्षा के सीआर मृदुल ने की। इस दौरान मृदुल ने कहा कि हाल ही में एचपीएसएसबी द्वारा जेबीटी की कमीशन परीक्षा का आयोजन किया गया, जिसमें अभ्यर्थियों की कुल संख्या 36,000 थी। इसमें बीएड अभ्यर्थियों की संख्या करीब 33000 थी, जबकि जेबीटी डीएलएड अभ्यर्थियों की संख्या कुल 3300 थी। ऐसे में डीएलएड में सरकार के खिलाफ काफी रोष है। बैठक में उन्होंने डीएलएड जेबीटी प्रशिक्षु से अनुरोध करते हुए कहा कि इस अन्याय के खिलाफ  एकजुटता दिखाएं, ताकि इस अन्याय का विरोध किया जा सके तथा डीएलएड अभ्यर्थियों के साथ न्याय हो सके। उन्होंने कहा कि जिन्होंने बीएड की है उनके लिए सरकार अलग से नियम बनाए। जिन जेबीटी के पास डीएलएड का हक है उसे न छीना जाए। यदि ऐसा किया जाता है, तो यह सरासर जेबीटी प्रशिक्षुओं अन्याय है। प्रशिक्षुओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि आने वाले चुनाव से पहले यदि उन्हें उनका हक नहीं मिलता है, तो नतीजा अच्छा नहीं होगा। जेबीटी प्रशिक्षुओं ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज से मांग करते हुए कहा कि चुनाव से पहले उनका हक दिलाया जाए। यदि उन्हें उनका हक नहीं मिला तो चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा।  बैठक में मनोज नैय्यर, रिंकू, पंकज शर्मा, शिवदत्त, अमित खान, रोहित ठाकुर, विनय ठाकुर, हितेश ठाकुर, सीमा देवी व पुष्पा देवी सहित अन्य प्रशिक्षु मौजूद रहे।

You might also like