छात्रों को दी जाए पुर्नमूल्यांकन की सुविधा

नालागढ़ कालेज में एबीवीपी ने प्राचार्य के माध्यम से उपकुलपति को भेजा ज्ञापन

नालागढ़ -यूजीसी के परीक्षा परिणामों में हो रही अनियमितताओं व घोषित अधूरे परीक्षा परिणामों से आहत एबीवीपी ने नालागढ़ कालेज प्राचार्य के माध्यम से उपकुलपति को ज्ञापन सौंपा है। एबीवीपी का कहना है कि परिणाम में गणित विषय में करीब 90 फीसदी विद्यार्थियों के फेल किए गए है, जो कि तर्कसंगत नहीं है, इसलिए जहां पुर्नमूल्यांकन की व्यवस्था होनी चाहिए, वहीं पासिंग परसेंटेज 45 के बजाए 40 करने और रिवाइजड असेसमेंट करने की सुविधा प्रदान की जानी चाहिए। यदि यह मांगों पूरी नहीं हुई तो एबीवीपी पूरे प्रदेश में उग्र आंदोलन करेंगी। एबीवीपी के कैंपस अध्यक्ष जसप्रीत सिंह व उपाध्यक्ष गुरविंदर सिंह ने कहा कि एबीवीपी ने मांगों व समस्या संबंधी मांगपत्र प्राचार्य के माध्यम से उपलकुलपति का सौंपा है, क्योंकि एबीवीपी 1949 से छात्र हित व सामाजिक कार्यों में लगातार कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि एबीवीपी विवि प्रशासन का ध्यान यूजीसी के परीक्षा परिणामों में हो रही अनियमितताओं व अधूरे परीक्षा परिणाम घोषित करने की ओर लाना चाहती है। उन्होंने कहा कि परिणाम में गणित विषय में करीब 90 फीसदी विद्यार्थी फेल किए गए है और फेल विद्यार्थियों में ऐसे विद्यार्थी भी शामिल है, जो हमेशा अच्छे अंकों के साथ पास होते है। 90 प्रतिशत विद्यार्थियों का एक साथ फेल होना उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ है। उन्होंने कहा कि एबीवीपी नालागढ़ इकाई विवि प्रशासन से मांग करती है कि विद्यार्थियों को पुर्नमूल्यांकन की सुविधा दी जाए और पासिंग प्रतिशतता 45 के बजाए 40 फीसदी की जाए और साथ ही विद्यार्थियों को रिवाईज असेसमेंट करने की सुविधा दी जाए। उन्होंने विवि प्रशासन को कहा कि यदि इन मांगों को शीघ्र पूरा नहीं किया तो एबीवीपी पूरे प्रदेश में उग्र आंदोलन करने को बाध्य हो जाएगी। नालागढ़ कालेज प्राचार्य डा.अनिल रतन वर्मा ने कहा कि एबीवीपी द्वारा सौंपे गए ज्ञापन को आगामी कार्रवाई के लिए विवि प्रशासन को प्रेषित कर दिया गया है।

You might also like