छात्रों-शिक्षकों को बताया मतदान का महत्त्व

बद्दी—मतदाता जागरूकता अभियान स्वीप कार्यक्रम के तहत राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चनालमाजरा व हरिपुर संडोली स्कूल में शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में नोडल अधिकारी डा. अक्षत ठाकुर  और उनकी टीम ने छात्रों, स्टाफ और अन्य लोगों को मतदान प्रक्रिया, मतदान के महत्त्व आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी। छात्रों के माध्यम से जागरुक किया गया कि वह अपने माता-पिता, मित्र, संबंधी को मतदान के लिए प्रेरित करें। भारत एक लोकतांत्रिक देश है, जहां पर जनता का शासन चलता है। मतदान एक ऐसी प्रक्रिया है, जिससे व्यक्ति अपने विचारों की दूसरों से सहमति और असहमति दिखा सकता है। चुनाव से पहले बहुत से चुनाव लड़ने वाले व्यक्ति विभिन्न एजेंडे हमारे सम्मुख रखते हैं और लोग मतदान यानी कि वोटिंग के माध्यम से उनमें से किसी एक को संसद का सदस्य बनाते हैं। वहीं, व्यक्ति जीत हासिल करता है, जिससे सबसे ज्यादा मतदान प्राप्त होता है यानी कि लोगों का मत और उनके विचार सबसे ज्यादा उससे मिलते हैं और लोग उनकी बातों से संतुष्ट हैं। मतदान एकमात्र ऐसा साधन है, जिससे देश की जनता स्वयं अपने देश का विकास निर्धारित कर सकती है। मत देने की शक्ति से वह अपने देश की भागदौड़ संभालने के लिए उनकी नजर में योग्य व्यक्ति को खुद चुन सकते हैं। भारत एक ऐसा देश है, जो लोगों को अपने देश के लिए फैसले लेने की पूर्ण आजादी देता है। हर व्यक्ति को मतदान जरूर करना चाहिए क्योंकि हर एक मत कीमती है। एक मत भी देश के लिए गलत सरकार को चुनने से रोक सकता है। मतदान से ही सरकार को पता चलता है कि देश कि जनता उनसे संतुष्ट है या नहीं क्योंकि जनता संतुष्ट होगी तो हर बार वही सरकार आएगी। मतदान जाति या धर्म के आधार पर नहीं किया जाना चाहिए। पहले सभी का एजेंडा पढ़ कर देश के हित के लिए उपयोगी देखकर ही अपना मत डाले। युवा को तो निश्चित रूप से ही मतदान करना चाहिए क्योंकि युवा देश की नींव होते हैं और वह अच्छी परख भी रखते हैं। युवा देश के लिए एक अच्छा उम्मीदवार चुन सकता है। सरकार ने लोगों को मतदान के प्रति जागरूक करने और मतदान का महत्त्व बताने के लिए मतदान अभियान भी चलाया हुआ है और उसी के तहत हम दून विधानसभा के गांव में जा रहे हैं। मतदान को करना राष्ट्र के लिए आवश्यक और हितकारी है। हर व्यक्ति को मतदान करना ही चाहिए क्योंकि वो हमारा अधिकार है और देश के लिए उम्मीदवार चुनने के लिए सहायक है। इस अवसर पर प्रधानाचार्य उपमा शर्मा और शांति नेगी ने आयोग की टीम का धन्यवाद किया।

You might also like