छोटी काशी में स्वाभिमान-सम्मान की जीत

मंडी—लोकसभा चुनाव में स्वाभिमान और सम्मान की लड़ाई के नारे के नीचे छोटी काशी की जनता एक तरफ चली है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने लोकसभा चुनाव के दौरान मंडी की जनता से यह आह्वान किया था कि लोकसभा में चुनावी जंग सिर्फ दो विचारधाराओं की ही नहीं है, बल्कि यह मंडी जिला के स्वाभिमान व सम्मान की लड़ाई है। मुख्यमंत्री के इस आह्वान को मंडी जिला की जनता ने कांग्रेस के लिए वोटबंदी कर सिद्ध कर दिया है। अकेले मंडी जिला के नौ हलकों से ही भाजपा प्रत्याशी रामस्वरूप शर्मा को 267639 मतों की बढ़त मिली है। पिछले लोकसभा चुनावों में मंडी जिला से रामस्वरूप को 53074 मतों की बढ़त आई थी। बड़ी बात तो यह भी है कि भाजपा ने इस बार विस चुनावों की लीड को भी पीछे छोड़ दिया है। विस चुनावों में जीतने वोट से भाजपा प्रत्याश जीते थे, इस बार उससे कई गुना अधिक लीड लोकसभा में भाजपा को मिली है। मुख्यमंत्री के सराज हलके से तो सबसे अधिक 37147 लीड भाजपा को गई है। सराज में 90 फीसदी के लगभग मत रामस्वरूप शर्मा ले गए हंैं। पिछली बार सराज से कांग्रेस को 1491 मतों की बढ़त मिली थी, वहीं अपने गृहक्षेत्र में इस बार कमजोर माने जा रहे रामस्वरूप शर्मा ने 36292 बढ़त लेकर चमत्कार कर दिखाया है। पिछले लोकसभा चुनावों में रामस्वरूप शर्मा को जोगिंद्रनगर विस से 19911 मतों की बढ़त मिली थी।  इसी तरह से बल्ह विस को पंडित सुखराम का प्रभाव वाला क्षेत्र बताया जा रहा था, लेकिन यहां से तो भाजपा विधायक इंद्र सिंह गांधी 33168 मतों की लीड दिलाने में सफल रहे हैं, जबकि पिछले लोकसभा चुनावों में रामस्वरूप शर्मा को 5252 मतों की बढ़त मिली थी और इंद्र सिंह गांधी ने खुद पूर्व मंत्री प्रकाश चौधरी को 12811 मतों से हराया था। इसी तरह से कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा के हलके सदर मंडी से भाजपा को 27491 मतों बढ़त मिली है। 2014 के लोकसभा चुनाव में यहां से रामस्वरूप को 6394 मतों की बढ़त मिली थी और आचार संहिंता से चंद रोज पहले परिवार सहित भाजपा का दामन थामने वाले अनिल शर्मा 10257 मतों से जीते हंैं। इसी तरह से नाचन विस से पिछले लोस चुनावों में भाजपा कोे 4077 मतों की बढ़त आई थी, जबकि अब इस बार रामस्वरूप शर्मा को यहां से 26136 मतों की बढ़त आई है। 2017 के विस चुनावों में भाजपा प्रत्याशी विनोद कुमार ने 15896 मतों से जीत दर्ज की थी। सुंदरनगर विस से इस बार रामस्वरूप शर्मा को 23427 मतों की बढ़त मिली है। पिछले चुनावों में से भाजपा को सुंदरनगर से 4682 अधिक मत मिले थे और राकेश जम्वाल ने यहां से अपना चुनाव 9263 मतों से जीता है। दं्रग से रामस्वरूप शर्मा को 26097 मतों की लीड मिली है। पिछले चुनाव में रामस्वरूप को यहां से मात्र 1648 मतों की बढ़त आई थी, जबकि विस चुनाव में इस हलके से जवाहर ठाकुर ने पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर को 6541 मतों के अंतर से हराया था। इसी तरह से सरकाघाट हलके से रामस्वरूप शर्मा को 31021 मतों की बढ़त मिली है। पिछली बार यहां भाजपा को 8434 मत ज्यादा आए थे और विस चुनाव में भाजपा ने 9302 मतों से यहां जीत दर्ज की थी। करसोग से इस बार रामस्वरूप शर्मा को 26860 मतों की लीड मिली है। पिछले चुनाव में करसोग से 2676 मतों की लीड राम स्वरूप शर्मा को थी। विस चुनाव में भाजपा विधायक हीरा लाल 4830 से जीते हैं।

पड्डल में स्क्रीन पर देखा रिजल्ट

पड्डल मैदान में मतगणना दिखाने के लिए स्पेशल स्क्रीन लगाई गई थी। सराज, मंडी सदर और धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र की मतगणना वल्लभ कालेज में हुई। नतीजे सुनने पहुंचे हजारों कार्यकर्ता मंडी जिला सहित देश भर के नतीजे स्क्रीन से ही देख रहे थे, दोहपर बाद बारिश के चलते स्क्रीन बंद भी करनी पड़ी।

You might also like