जमानत पर चल रहे अफसरों के स्टेटस पर सरकार ने मांगे कमेंट

शिमला- कोटखाई गैंग रेप और मर्डर केस से जुड़े पुलिस लॉकअप में हुई सूरज हत्या केस में जमानत पर चल रहे तीन पुलिस अफसरों के स्टेटस पर सरकार ने पुलिस मुख्यालय से कमेंट्स मांगे हैं। आईजी जहूर जैदी, पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी और डीएसपी मनोज जोशी को हाल ही में कोर्ट से जमानत मिली थी। हालांकि तीनों अधिकारी पुलिस मुख्यालय में अपनी सेवाएं दे रहे हैं, लेकिन अभी तक कोई पद नहीं है। इसे देखते हुए विधि विभाग की राय के बाद गृह विभाग ने पुलिस महानिदेशक एसआर मरडी से जल्द कमेंट्स देने को कहा है। ऐसे में अब पुलिस महानिदेशक की ओर से कमेंट्स मिलने के बाद गृह विभाग उस फाइल को मुख्यमंत्री के हवाले कर देगा, जिसकी समीक्षा होगी और सस्पेंशन बहाली पर अंतिम फैसला भी सरकार लेगी।  गृह विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक जैदी, नेगी और जोशी की जमानत से संबंधित पूरी सूचना की फाइल पुलिस मुख्यालय से आई है, जिसे विधि विभाग की ओपीनियन के बाद डीजीपी मरडी से कमेंट्स मांगे हैं। ऐसे में अब जैदी की पोस्टिंग मामले पर अंतिम फैसला प्रदेश सरकार करेगी। उल्लेखनीय है कि कोटखाई गैंग रेप और मर्डर केस से जुडे़ सूरज हत्या मामले में आईजी जैदी, पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी, डीएसपी मनोज जोशी सहित आठ पुलिस जवान गिरफ्तार हुए थे, जिसमें जैदी को सुप्रीम कोर्ट और डीडब्ल्यू नेगी और मनोज जोशी को प्रदेश हाईकोर्ट ने जमानत मिली है,जबकि अन्य हिरासत में ही हैं। 

You might also like