जल्द शुरू होगा मेडिकल कालेज नाहन के बहुमंजिला भवनों का काम

नाहन—सिरमौर जिला के नाहन  स्थित डा. वाईएस परमार मेडिकल कालेज के नए बहुमंजिला भवन का निर्माण शीघ्र शुरू हो सकता है, जिसको लेकर सीपीडब्ल्यूडी की चार सदस्य टीम ने  निर्माण कार्य शुरू करने को लेकर निर्माण स्थल का जायजा लिया। चार सदस्य टीम ने डा. वाईएस परमार मेडिकल की बनने वाले तीनों भवनों की भूमि का मुआयना किया, जहां पर यह बहुमंजिला भवन बनने हैं लोकसभा चुनाव से पहले प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर इसका भूमिपूजन कर चुके हैं।  शिलान्यास के बाद आचार संहिता लगने के चलते भवनों का निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया था, जैसे ही चुनाव संपन्न हुए सीपीडब्ल्यूडी की टीम ने भूमि का निरीक्षण कर भवन बनाने की प्रक्रिया में तेजी ला दी है। भवन निर्माण को लेकर टैंडर प्रक्रिया भी जल्द ही शुरू कर दी जाएगी। टीम के सदस्यों ने इस मौके पर कालेज में हुए पहले निर्माण कार्यों का जायजा भी लिया। डा. वाईएस परमार मेडिकल कालेज में तीन भवनों का निर्माण कार्य किया जाना है। यह तीनों भवन 261 करोड़  रुपए से बनेंगे। प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर इसकी नींव रख चुके हैं। गौर हो कि नाहन मेडिकल कालेज का नया परिसर राज्य के लोगों को सर्वोत्तम और वशिष्ट चिकित्सा सुविधा प्रदान  करेगा।  मेडिकल कालेज नाहन गुणवत्ता, स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में एक मील का पत्थर साबित हो सकता है। नींव रखने के दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि कालेज की इमारत अगले दो साल में बनकर तैयार हो जाएगी। इस संस्थान में पांच अल्ट्रा, आधुनिक आपरेशन थियेटरों के साथ सभी आधुनिक सुविधाएं होंगी। इन इमारतों में टिचिंग ब्लॉक, आधुनिक अस्पताल व मदर एंड चाइल्ड केयर सेेंटर निर्मित किए जाएंगे। इससे, जहां जिलावासियों को बेहतर सुविधाएं प्राप्त होंगी, वहीं लोगों को दूसरे राज्यों में स्वास्थ्य सुविधाएं लेने नहीं जाना पड़ेगा।

भूमि से हटाएं पेड़ व बिजली की तारें

डा. वाईएस परमार मेडिकल कालेज में आई  सीपीडब्ल्यूडी की  चार सदस्य टीम ने रिजनल ऑफिस चंडीगढ़ से आए  विभाग के अधिकारियों व कालेज प्रशासन के अधिकारियों को आदेश दिए कि, जहां पर भवन निर्माण होना है, वहां से पेड़ हटाने के लिए परमिशन ली जाए। साथ ही जहां पर बिजली की तारें हैं, वहां से यह तारें हटाई, जिससे निर्माण कार्य में कोई परेशानी न हो।

टीम ने किया निरीक्षण

डा. वाईएस परमार मेडिकल कालेज के डिप्टी एमएस सुनील कक्कड़ ने बताया कि सीपीडब्ल्यूडी चंडीगढ़ के रिजनल ऑफिस से चार सदस्य टीम ने कालेज में बनने वाले तीन बहुमंजिला इमारतों के लिए भूमि का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि भूमि के स्थान पर कुछ पेड़ व बिजली की तारें हैं, जिन्हें दूर करने के लिए टीम ने हामी भरी है।

You might also like