जल्द हो आईपीएस प्रताप सिंह की बहाली

आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने पंजाब सरकार से की अपील 

चंडीगढ़ -आम आदमी पार्टी (आप) के राज्य प्रधान और संसद मेंबर भगवंत मान ने श्रीगुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी और बहबल कलां गोली कांड की जांच के लिए गठित स्पेशल इन्वेस्टिगेटिव टीम के चुनाव दौरान बदले गए अहम मेंबर कुंवर विजय प्रताप सिंह की तुरंत बहाली की मांग की है। पार्टी हैडक्वाटर द्वारा जारी बयान में भगवंत मान ने कहा कि चुनाव बीत चुके हैं, चुनाव प्रक्रिया खत्म हो रही है, इसलिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंदर सिंह कुंवर विजय प्रताप सिंह को बतौर सिट मैंबर तुरंत बहाल करें। भगवंत मान ने कहा कि कितने अफसोस और दुर्भागयापूर्ण बात है कि कैप्टन के नेतृत्व में सरकार बनी को अढ़ाई साल हो चुके हैं, परंतु गुरु की बेअदबी करने करवाने और निर्दोश नौजवानों को गोलियों से मारने वाले अभी भी खुलेआम घूम रहे हैं और चोटल हृदय से संगत इनसाफ  की पुकार कर रही है। भगवंत मान ने कैप्टन अमरेंदर सिंह की नीयत पर सवाल खड़े करते कहा कि पिछली बादल सरकार के दौरान तो इनसाफ की उम्मीद नहीं की जा सकती थी, जिन्होंने जस्टिस जोरा सिंह कमीशन की रिपोर्ट तक रद्दी की टोकरी में फैंक दी थी, परंतु कैप्टन सरकार के दौरान भी जब जस्टिस रणजीत सिंह कमीशन की रिपोर्ट का सेक बादलों के गांव तक गया तो एक ओर सिट गठित कर दी, इतना ही नहीं फिर जब कुंवर विजय प्रताप सिंह ने बादलों की गहनता से जांच शुरू की तो चुनाव कमीशन ने कुंवर विजय प्रताप सिंह का तबादला करवा दिया। भगवंत मान ने कैप्टन सरकार को चेतावनी दी कि यदि उन्होंने आगामी पहली जून से पहले-पहले कुंवर विजय प्रताप सिंह को बतौर सिट मैंबर बहाल न किया तो वह जहां संसद के पहले सेशन दौरान ही यह मुद्दा पूरे देश के समक्ष रखेंगे।

टालमटोल न करें कैप्टन

भगवंत मान ने कहा कि यदि कैप्टन अमरेंदर सिंह ने कुंवर विजय प्रताप सिंह की बहाली करने में ओर टाल-मटोल की तो एक सबूत ओर सामने आ जाएगा कि बादल परिवार और कैप्टन परिवार में एक दूसरे को बचाने के लिए स्थाई डील हुई है। भगवंत मान ने उन कांग्रेसियों को भी कैप्टन पर दबाव बनाने के लिए कहा जो चुनाव के समय जनता की हमदर्दी के लिए कुंवर विजय प्रताप सिंह की बदली के विरुद्ध चुनाव कमीशन को मांग पत्र देते हैं, परंतु अब चुप हो गए हैं।

You might also like