जाबली के पास आग, आधा घंटे ट्रेनें लेट

धर्मपुर—विश्व धरोहर कालका-शिमला रेलवे ट्रैक पर जाबली के समीप जंगल में भीषण आग लग जाने से तीन ट्रेनें लेट हो गई। इसके चलते पर्यटकों को खासी परेशानी झेलनी पड़ी है। यही नहीं शिमला से कालका जाने वाली ट्रेनों के आधा घंटा विभिन्न स्टेशनों पर रुके रहने से कालका से अन्य जगहों पर जाने वाले लोगों की अगली ट्रेनें भी छुट्टी है। आग इतनी भीषण तरीके से लगी थी कि उसे बुझाने के लिए वन विभाग व रेलवे की टीम को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। जानकारी के अनुसार विश्व धरोहर कालका-शिमला रेल मार्ग पर सनवारा कोटी स्टेशन के बीच पड़ने वाले जाबली के गांव गाही धार में भीषण आग लगी रही। बताया जा रहा है कि यह आग पिछले दो दिनों से लगी है जो धीरे-धीरे वीरवार को लगभग एक बजे ट्रेक तक पहुंच गई। इसके चलते तीन ट्रेनों को विभिन्न स्टेशनों पर रोका गया। आग लगने से जहां वन संपदा को नुकसान पहुंचा है, वहीं ट्रेनों के लेट होने से पर्यटकों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है। गौरतलब हो कि भीषण गर्मी के चलते कई जंगल आग से दहकना शुरू हो गए। जंगलों में लगी आग को बुझाने लिए अग्निशमन विभाग, वन विभाग की टीमें दिन रात कार्य कर रही है। गुरुवार को भी विश्व धरोहर कालका-शिमला ट्रेक के बीच कई जगहों पर आग लगने के मामले सामने आए है। जिन्हें टीमों ने तुरंत काबू कर ट्रेनों को समय से स्टेशनों पर पहुंचाया है लेकिन जाबली के समीप ट्रेक के दोनों ओर लगी आग से ट्रेनें आधा घंटा लेट हुई है। गौरतलब हो कि इन दिनों बाहरी राज्यों से पर्यटक हिमाचल के रुख कर रहे है और अधिकतर पर्यटक टॉय ट्रेन के माध्यम से शिमला पहुंचते है परंतु ट्रेक पर आग लगने से पर्यटकों को परेशान होना पड़ रहा है।

रेलवे अधिकारियों ने की आग न लगाने की अपील

विश्व धरोहर कालका-शिमला रेल ट्रेक व अन्य जगहों पर रेलवे अधिकारियों ने लोगों से आग न लगाने की अपील की है। उनका कहना है कि इससे न केवल वन संपदा को नुकसान हो रहा है बल्कि पर्यावरण भी दूषित हो रहा है।

यह ट्रेनें हुई लेट

विश्व धरोहर कालका-शिमला रेलवे ट्रेक पर यातायात आधा घंटा बाधित रहा है। गुरुवार को शिमला की ओर जा रही अप हिमालयन क्वीन  52455 को कोटी में और कालका की ओर जा रही होली-डे स्पेशल ट्रेन 52444 को सनवारा, डाउन हिमालयन क्वीन 52456 को धर्मपुर में आधा से एक धंटा रोकना पड़ा।

You might also like