जावेद अख्तर को मारने की धमकी

घूंघट वाले बयान पर करणी सेना ने माफी मांगने को कहा

मुंबई -मशहूर गीतकार जावेद अख्तर के बुर्के के साथ घूंघट पर भी प्रतिबंध लगाने वाले बयान के बाद विवाद पैदा हो गया। करणी सेना ने जावेद अख्तर के इस बयान पर विरोध जताया है। इसके अलावा करणी सेना ने जावेद अख्तर को मारने की धमकी भी दी है। करणी सेना महाराष्ट्र विंग के अध्यक्ष जीवन सिहं सोलंकी ने कहा कि बुर्का आतंकवाद से जुड़ा है, जो कि राष्ट्रीय सुरक्षा का सवाल है। उन्होंने कहा कि हमने पत्र भेजकर जावेद अख्तर को मांफी मांगने को कहा है। यदि उन्होंने तीन दिन में मांफी नहीं मांगी तो परिणाम भुगतने को तैयार रहें। सोलंकी ने पत्र के साथ एक वीडियो रिकार्डिंग भेजी है, जिसमें उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर वह मांफी नहीं मांगते हैं तो हम आपकी आंखें बाहर निकाल देंगे और आपकी जीभ बाहर निकाल देंगे और घर में घुसकर मारेंगे। बता दें कि इससे पहले करणी सेना ने फिल्म पद्मावत के लिए संजय लीला भंसाली के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन किया था। इसके अलावा फिल्म मणिकर्णिका के निर्माताओं को भी धमकी दी थी। उधर, जावेद अख्तर ने ट्वीट कर कहा कि कुछ लोग मेरे बयान को तोड़मरोड़कर गलत मतलब निकाल रहे हैं। मैंने कहा था कि शायद श्रीलंका में सुरक्षा कारणों से प्रतिबंध किया गया है, लेकिन बुर्के या घूंघट को प्रतिबंधित करना महिला सशक्तिकरण के लिए जरूरी है।

You might also like