जेबीटी कमीशन में बीएड को अनुमति के खिलाफ सड़कों पर उतरेंगे प्रशिक्षु

नाहन—हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा जेबीटी के कमीशन में बीएड अभ्यार्थियों को अनुमति दिए जाने के निर्णय के खिलाफ मंगलवार को जिला सिरमौर के नाहन स्थित डाईट के सैकड़ों प्रशिक्षणार्थी सड़कों पर उतरेंगे। मंगलवार सुबह ऐतिहासिक रानीताल से जेबीटी प्रशिक्षु एक विरोध रैली शहर भर में निकालेंगे तथा इसके उपरांत उपायुक्त सिरमौर के माध्यम से सरकार को एक ज्ञापन भी भेजा जाएगा। सोमवार को नाहन स्थित डाईट के प्रशिक्षुओं ने हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल को भी एक ज्ञापन सौंपा तथा उनसे मांग की कि जेबीटी के कमीशन में बीएड अभ्यार्थियों को अनुमति न दी जाए। जेबीटी का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे अभ्यार्थियों का कहना है कि इससे जेबीटी अभ्यार्थियों के साथ सरकार अन्याय कर रही है। उनका कहना है कि जेबीटी व बीएड अलग-अलग प्रशिक्षण है। यदि जेबीटी के कमीशन में बीएड को शामिल किया जाता है तो इसे जेबीटी प्रशिक्षण का कोई औचित्य नहीं रह जाता है। जेबीटी प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे प्रशिक्षु पुनित शर्मा, नीरज, मनोज, तनुज, राजेंद्र, प्रवीन, नवीन, विनय, पंकज, अजय आदि ने बताया कि बिना जेबीटी टैट के कैसे बीएड प्रशिक्षुओं को कमीशन में लिया गया। इसके अलावा जेबीटी एक प्राथमिक शिक्षा में प्रशिक्षण है, जबकि बीएड एक शिक्षा में स्नात्तक की डिग्री है। उनका कहना है कि बीएड प्रशिक्षु जेबीटी के आर एंड पी रूल को पूरा नहीं करते हैं। ऐसे में उन्हें जेबीटी के कमीशन के योग्य नहीं माना जाना चाहिए। जेबीटी प्रशिक्षुओं ने कहा कि इसी मांग को लेकर मंगलवार को नाहन में विरोध रैली निकाली जाएगी तथा सरकार को ज्ञापन भेजकर आग्रह किया जाएगा कि इस निर्णय पर पुनर्विचारकिया जाए।

You might also like