जो टायलट नहीं बना पाए वह विकास क्या करवाएंगे

 शिमला —यह राजनीतिक विडंबना है कि जो व्यक्ति अपने कार्यकाल में डैहर में एक सार्वजनिक शौचालय तक नहीं बना सका, वह मुख्यमंत्री के विकास कार्यों पर प्रश्न चिन्ह लगाने का प्रयास कर रहा है। भाजपा जिलाध्यक्ष व विधायक राकेश जम्वाल ने पूर्व विधायक सोहन लाल को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि वह यह भूल रहे हैं कि उनके समय में लोगों को एक एंबुलेंस के लिए भी डैहर में आमरण अनशन करना पड़ा था और उनके तथाकथित विकास की हालत यह थी कि उनके गृह क्षेत्र में खुली पीएचसी पांच वर्षों तक डाक्टर का मुंह देखने के लिए तरस गई थी। श्री जम्वाल ने कहा कि यह जयराम सरकार है कि आज उनकी गृह पंचायत में डाक्टर भी पहुंचा है और डैहर की जनता को एंबुलेंस भी मिली है। सवा साल में डैहर में 33 करोड़ रुपए की पीने की पानी की योजना स्वीकृत करवाई गई है। इसी के साथ आईटीआई भवन के लिए 6.50 करोड़ रुपए और कांगू से त्रिफालघाट सड़क के लिए 10.50 करोड़ रुपए वर्तमान जयराम सरकार ने ही स्वीकृत किए हैं।

You might also like