टंकी ओवरफ्लो, तो कटेगा कनेक्शन

बिलासपुर —शहर में पानी की बर्बादी को रोकने के लिए आईपीएच विभाग बिलासपुर ने कानून कड़े कर दिए हैं। पिछले कई दिनों से पानी की लीकेज और टंकियों से ओवरफ्लो व कई क्षेत्रों में हो रही पानी की कमी को देखते हुए आईपीएच विभाग ने फ्लाइंग दल बनाया है। यह दल घरों में पानी की बर्बादी पर नजर रखेगा व जांच के दौरान दल को किसी भी व्यक्ति के घर में पानी की बर्बादी और अवैध कनेक्शन मिलता है तो कार्रवाई करते हुए तुरंत इनका कनेक्शन काट दिया जाएगा। आईपीएच विभाग बिलासपुर के अधिशाषी अभियंता ई. अरविंद वर्मा ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि उपायुक्त विवेक भाटिया द्वारा हाल ही में जारी आदेशों के बाद इस फ्लाइंग दल का गठन किया गया है। एक बार कनेक्शन कटने पर पूरी फीस चुकाने के बाद पुनः कनेक्शन लेना पड़ेगा। पाइपों और टंकियों में हो रही लीकेज को बंद करने के लिए भी लोगों को निर्देश दिए हैं। पानी की बर्बादी होने की दशा में विभाग पानी के कनेक्शन कट कर देगा। बहरहाल अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहे लोगों के खिलाफ  जिला प्रशासन ने सख्ती बरतने का फैसला लिया है। फील्ड स्टाफ  को लीकेज की समस्याओं को फौरन दुरुस्त करने के आदेश दिए हैं। फ्लाइंग स्क्वायड गठित कर अधिकारियों और कर्मियों की जवाबदेही तय कर दी गई है। गर्मियों के सीजन में पेयजल संकट से लोगों को बचाने के लिए आईपीएच विभाग ने अपने कर्मचारियों की छुट्टियां बंद की हैं। केवल आपातकालीन स्थिति में ही फील्ड कर्मचारियों को अवकाश दिया जाएगा। बताया जा रहा है कि 30 जून तक यह रोक जारी रहेगी।

घरेलू कनेक्शन का दुरुपयोग मंजूर नहीं

पीने के पानी के घरेलू कनेक्शन से अगर कोई उपभोक्ता कामर्शियल काम करता हुआ पकड़ा गया तो विभाग इनसे जुर्माना वसूल करेगा। पानी की कनेक्शन जारी करने की तारीख से उपभोक्ता से व्यावसायिक दरों पर घरेलू कनेक्शन से रिवाइज बिल वसूला जाएगा। वहीं, मेन पाइप लाइन से पानी चुराते हुए अगर कोई उपभोक्ता पकड़ा गया तो विभाग द्वारा पानी का कनेक्शन भी मौके पर काट दिया जाएगा।

पानी की ओवर स्टोरेज से बचें

आईपीएच के अधिशाषी अभियंता ई. अरविंद वर्मा ने बताया कि लोगों को संभावित सूखे के समय में पानी बचाने में सहयोग करना चाहिए। अपने घरों में पानी की ओवर स्टोरेज न करें। जितना पानी चाहिए, उतना ही रखें। अपने-अपने क्षेत्र के जेई और एसडीओ के नंबर अपने पास रखें, ताकि कोई सूचना या शिकायत उन्हें दी जा सके। आईपीएच विभाग गाडि़यां धोने, बागीचों में खुलकर सिंचाई करने और किसी भी अन्य तरीके से पानी की पाइपें खुले में छोड़कर पानी बर्बाद करने वालों के खिलाफ  भी अभियान चलाकर कार्रवाई करेगा।

You might also like