टाइम ने मोदी को बताया देश को बांटने वाला

नई दिल्ली – अमरीका की मशहूर पत्रिका टाइम के कवर पेज पर इस बार प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर छपी है, लेकिन इस तस्वीर के साथ ऐसा कुछ छपा है जो नए विवाद को जन्म दे सकता है। भारत में दो चरणों का मतदान बचा हुआ है और इससे पहले टाइम मैगजीन के 20 मई के अंक के मुखपृष्ठ की एक तस्वीर सामने आई है, जिसमें पीएम मोदी नजर आ रहे हैं। मोदी की इस तस्वीर के साथ एक विवादास्पद हैडिंग भी दी गई है, जो अंतिम चरण में चल रहे राजनीतिक उबाल को और भी गरमा सकती है। इंडियाज डिवाइडर चीफ नाम के शीर्षक और पीएम मोदी के फोटो के साथ छपे इस लेख में मैगजीन ने उन्हें देश को बांटने वाला बताया है। तस्वीर के साथ लिखी यह हैडिंग मैगजीन में आतीष तासीर द्वारा लिखे एक आर्टिकल की है। टाइम ने कवर पेज ट्वीट किया और इसमें यह भी हैडिंग दी गई है कि क्या दुनिया की सबसे बड़ा लोकतंत्र मोदी सरकार के और पांच साल सहन कर सकता है। मैगजीन में लिखे आर्टिकल में लेखक ने पीएम मोदी और पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू की तुलना की है। आतीष तासीर ने लिखा है कि वर्तमान हालातों पर नेहरू के समाजवाद की तुलना मोदी से की गई है, जिन्होंने हिंदू और मुस्लिमों के बीच भाईचारे की भावना को बढ़ाने लेकर कुछ नहीं किया। टाइम के इस लेख में 1984 के सिख दंगों और 2002 के गुजरात दंगों का भी जिक्र है। मैगजीन का मानना है कि 2014 में लोगों को आर्थिक सुधार के बड़े-बड़े सपने दिखाने वाले मोदी अब इस बारे में बात भी नहीं करना चाहते। अब उनका सारा जोर हर नाकामी के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराकर लोगों के बीच राष्ट्रवाद की भावना का संचार करना है। भारत-पाक के बीच चल रहे तनाव का फायदा उठाने से भी वह नहीं चूक रहे हैं। मैगजीन का कहना है कि बेशक मोदी फिर से चुनाव जीतकर सरकार बना सकते हैं, लेकिन अब उनमें 2014 वाला करिश्मा नहीं है। तब वह मसीहा थे। लोगों की उम्मीदों के केंद्र में थे। इससे उलट अब वह सिर्फ एक राजनीतिज्ञ हैं, जो अपने तमाम वादों को पूरा करने में नाकाम रहा है।

You might also like