टीम इंडिया नहीं जीतेगी वर्ल्डकप, इंग्लैंड-आस्ट्रेलिया में फाइनल!

मुंबई – वर्ल्डकप का रोमांच शुरू होने में अब कुछ ही दिन बाकी हैं और जानकार अभी से वर्ल्डकप के फेवरेट पर अपना दांव आजमाने लगे हैं। क्रिकेट पंडित जहां एक और टीम इंडिया, आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को इस वर्ल्डकप के लिए प्रमुख दावेदार मान रहे हैं, वहीं ज्योतिषीय गणना के अनुसार तीसरी बार वर्ल्ड चैंपियन बनने का भारतीय टीम का सपना इस बार पूरा होता नहीं दिख रहा। मुंबई के प्रसिद्ध ज्योतिषविद् ग्रीनस्टोन लोबो की वर्ल्डकप 2019 को लेकर की गई भविष्यवाणी को मानें, तो इस बार आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में इस खिताब की आखिरी (फाइनल) जंग होगी। ग्रीनस्टोन लोबो ज्योतिष के जाने-माने लेखक भी हैं। हाल ही उन्होंने हाउजैट- 50 प्रीडक्शन ऑन इंडियन क्रिकेट भी लिखी है।

कप्तानों की जन्मकुंडली में योग

इस बार वर्ल्डकप में पहले ही सबसे ज्यादा पांच बार वर्र्ल्डकप खिताब जीत चुकी आस्ट्रेलिया अपने खिताब की रक्षा करने उतरेगी, जबकि क्रिकेट का जन्मदाता देश इंग्लैंड अभी तक एक भी बार वर्ल्ड चैंपियन नहीं बन पाया है। ज्योतिषविद् लोबो ने अपनी भविष्यवाणी सभी कप्तानों की कुंडली का अध्ययन करने के बाद की है। लोबो की गणनाओं के मुताबिक इस बार विश्व विजेता बनने का ताज उसी कप्तान की टीम पर सजेगा, जो 1985-87 तक के बीच जन्मा हो, इस काल में जन्मे लोगों के लिए यूरेनस और नेप्च्यून सबसे मजबूत ग्रह हैं, जो उनके भाग्य को चमकाने में मददगार होंगे।

सेमीफाइनल तक तो पहुंच जाएंगे

भारतीय दृष्टिकोण से अब यह सवाल बड़ा ही स्वभाविक है कि ऐसे में इस वर्ल्डकप में टीम इंडिया का क्या होगा? लोबो की भविष्यवाणी के मुताबिक टीम इंडिया इस वर्ल्डकप में निश्चिततौर पर सेमीफाइनल तक का सफर, तो तय करेगी ही, लेकिन इस आगे जा पाना उसके लिए बेहद चुनौतीपूर्ण है।

इंग्लैंड पहली बार बन सकता है वर्ल्ड चैंपियन

कप्तानों की कुंडली के आधार पर आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच वर्ल्डकप के खिताबी मुकाबला खेले जाने की सबसे ज्यादा संभावनाएं हैं। लोबो कहते हैं कि आस्ट्रेलिया ने भी पिछली बार वर्ल्डकप खिताब अपने नाम किया है और इस बार भी उनकी टीम में पांच ऐसे खिलाड़ी हैं, जो पिछली वर्ल्ड चैंपियन टीम का हिस्सा थे, तो ऐसे में इस बार खिताब जीतने के उनके चांस भी कम हो जाते हैं। इस बीच मोर्गन की टीम को ज्योतिषीय नजर से देखें, तो वह आस्ट्रेलिया की तुलना में बेहद संतुलित नजर आ रही है और इसी आधार पर हम कह सकते हैं कि इस बार वर्ल्डकप विजेता बनने के चांस मेजबान इंग्लैंड टीम के सबसे ज्यादा हैं।

You might also like