टेस्ट लो, नहीं तो पैसा वापस करो

घुमारवीं—हिमाचल पथ परिवहन निगम में साल 2016 में निकली वर्क मैनेजर की पोस्ट के लिए अभ्यर्थी आज तक टेस्ट के इंतजार में है। तीन साल बाद भी टेस्ट की तिथि न मिलने के कारण अभ्यर्थी निराश हंै। अभ्यर्थियों ने टेस्ट के लिए एक हजार रुपए फीस भी भरी है। अभ्यर्थियों ने सरकार व निगम प्रबंधन से टेस्ट की तिथि तय करने या फिर उनकी फीस वापस करने की मांग की है। अभ्यर्थी हरिंद्र कुमार सहित अन्यों ने बताया कि 2016 में एचआरटीसी में वर्क मैनेजर की पोस्ट निकली थी। इसका टेस्ट 19 फरवरी 2017 को होना था। लेकिन, इसे प्रशासनिक कारणों से रद्द कर दिया था, जिसका आज तक टेस्ट नहीं हुआ है। हरिंद्र कुमार सहित टेस्ट भरने वाले अन्य अभ्यर्थियों ने बताया कि उन्होंने 2016 में यह टेस्ट भरा था तथा फरवरी 2017 में उनका टेस्ट की तारीख थी, लेकिन टेस्ट के एक दिन पहले उन्हें फोन पर मैसेज के जरिये जानकारी दी कि प्रशासनिक कारणों से तय तिथि को टेस्ट नहीं लिया जाएगा तथा इसकी तारीख बाद में बता दी जाएगी, लेकिन आज तीन साल तक टेस्ट के लिए कोई तिथि तय नहीं हो पाई है। हरिंद्र कुमार ने बताया कि उन्होंने जब इसकी आरटीआई ली तो पता चला कि लगभग 1008 लोगों ने यह टेस्ट भरा था और इसकी एक हजार रुपए फीस रखी गई थी। इन लोगों ने सरकार तथा प्रशासन से मांग की है कि यह तो इसका टेस्ट लिया जाए यह फिर उनके पैसे वापस किए जाए। उधर, महाप्रबंधक एचआरटीसी ने बताया कि यह टेस्ट पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा दोबारा लिया जाएगा। इन लोगों ने साल 2016 में इसे भरा था उनका पैसा वापस कर दिया जाएगा। उन लोगों को विभाग को उनका आवेदन नंबर, आवेदन पत्र के साथ भेजना होगा और उनकी आवेदन की फीस वापस कर दी जाएगी।

You might also like