ठियोग में मतदान कर्मियों के लिए पूर्वाभ्यास

ठियोग—ठियोग विधानसभा क्षेत्र से लोक सभा निर्वाचन के लिए प्रतिनियुक्त मतदान कर्मियों के लिए द्वितीय चरण का पूर्वाभ्यास कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सहायक रिटर्निंग अधिकारी एवं उप.मण्डलाधिकारी ठियोग मोहन दत शर्मा ने उपायुक्त एवं शिमला संसदीय क्षेत्र के रिटर्निंग अधिकारी राजेश्वर गोयल की उपस्थिति में की। ठियोग में नए बस स्टेंड के परिसर में आयोजित यह पूर्वाभ्यास कार्यक्रम सुबह व शाम दो चरणों में संपन्न किया गया। इसमें सैक्टर अधिकारियों, महिला मतदान कर्मियों सहित लगभग 700 मतदान कर्मियों ने भाग लिया। इस दौरान तहसीलदार ठियोग वेद प्रकाश शर्मा, नायब तहसीलदार अनिल सूद, निर्वाचन कानूनगो प्रदीप शर्मा, अमित मेहता, देवेंद्र कुमार आदि अन्य निर्वाचन कर्मचारी उपस्थित रहे। उपायुक्त शिमला राजेश्वर गोयल ने मतदान कर्मियों के लिए पूर्वाभ्यास की व्यवस्था का जायजा लेते हुए उपस्थिति काउंटर, पोस्टल बैलट पेपर व निर्वाचन ड्यूटी काउंटर, ईवीएम व वीवीपैट प्रशिक्षण काउंटरों तथा भोजन व्यवस्था आदि का निरीक्षण किया तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। सहायक रिटर्निंग अधिकारी एवं उपमंडलाधिकारी नागरिक मोहन दत्त शर्मा ने उपायुक्त को ठियोग विधान सभा क्षेत्र में लोक निर्वाचन को शांतिपूर्ण एवं निर्बाध रूप से संपन्न करवाने हेतु विभिन्न व्यवस्थाओं से अवगत करवाया। इस दौरान उपायुक्त ने पूर्वाभ्यास कार्यक्रम में उपस्थित पीठासीन अधिकारी, सहायक पीठासीन अधिकारी व मतदान अधिकारियों को दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि चुनावों के सफलतापूर्वक बिना किसी बाधा के संपन्न करवाने में मतदान दलों एवं मतदान कर्मियों की महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है। अतः उन्हें पोलिंग बूथ में मतदान के सफल संचालन के लिए अपने दायित्वों, कर्त्तव्यों एवं भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों से भली-भांति अवगत होना चाहिए। अतः मतदान कर्मचारी पूर्वाभ्यास के दौरान पोलिंग ड्यूटी से संबंधित नियमों व दिशा-निर्देशों को भली-भांति जान लें। तदोपरांत सहायक रिटनिंग अधिकारी मोहन दत्त शर्मा व निर्वाचन कानूनगो प्रदीप शर्मा द्वारा मतदान कर्मियों को भारत निर्वाचन अयोग के विभिन्न दिशा-निर्देशों से अवगत करवाया व पोलिंग बूथ में मतदान के संचालन के लिए क्रमवार दायित्त्वों, कर्त्तव्यों, भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों व विभिन्न प्रकार की सावधानियों तथा ईवीएम व वीवीपैट के संचालन के बारे में भी विस्तार से बताया गया। पूर्वाभ्यास के दौरान दूसरे संसदीय क्षेत्र में ड्यूटी देने जा रहे स्थानीय विधानसभा क्षेत्र के कर्मचारियों को डाक मतपत्र वितरित किए। इन कर्मचरियों ने परिसर में ही स्थापित मतदाता सुविधा पटल में डाक पत्र के माध्यम से लोक सभा निर्वाचन के लिए अपने मत काप्रयोग किया।

You might also like