डाक्टर बनने को 9254 ने दी परीक्षा

शिमला के 12, हमीरपुर के नौ परीक्षा केंद्रों में नीट का एग्जाम

शिमला, हमीरपुर —नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) मेडिकल और डेंटल कालेजों में एमबीबीएस और बीडीएस कोर्स में प्रवेश के लिए रविवार को नेशनल इलिजिबिल्टि कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) का आयोजन किया गया। शिमला में नीट का टेस्ट देने के लिए 12 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। इन परीक्षा केंद्रों में 4604 परीक्षार्थी परीक्षा देने पहुंचे। वहीं, हमीरपुर में डाक्टर बनने के लिए पांच जिलों के 4650 युवाओं ने नीट की परीक्षा दी। जिला में नौ परीक्षा केंद्र स्थापित किए गए थे। दोपहर बाद दो बजे से शाम पांच बजे तक परीक्षा का आयोजन किया गया। परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने का समय डेढ़ बजे तय किया गया था। सभी ने नियमानुसार परीक्षा केंद्र में पहुंचकर लिखित परीक्षा दी। दोपहर 12 बजे ही अभ्यर्थी परीक्षा केंद्रों पर जुटना शुरू हो गए थे। हमीरपुर में स्थापित नौ परीक्षा केंद्रों हमीरपुर पब्लिक स्कूल, केंद्रीय विद्यालय हमीरपुर, डीएवी हमीरपुर, डीएवी कांगू,  एमअईटी बणी, बुडस पार्क स्कूल बणी, सेवन स्टार इंटरनेशनल स्कूल बणी, सैनिक स्कूल सुजानपुर व एमबीएम नादौन में परीक्षा आयोजित की गई। नेशनल इलिजिबिलिटी कम एंट्रैंस टेस्ट में लड़कियों की संख्या अधिक दर्ज की गई। हमीरपुर में 4650 ने नीट की लखित परीक्षा दी। सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में परीक्षा आयोजित की गई। परीक्षा से संबंधित सभी पुख्ता प्रबंध किए गए थे। नीट एग्जाम के सिटी को-आर्डिनेटर विश्वास शर्मा ने बताया कि परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई। किसी भी सेंटर से परीक्षा से संबंधित कोई शिकायत नहीं मिली है। परीक्षा का आयोजन दो से पांच बजे तक किया गया।

लड़के कम, लड़कियों की तादाद ज्यादा

सुजानपुर – नीट की परीक्षा में लड़कियों की संख्या अधिक दर्ज की गई। सैनिक स्कूल सुजानपुर में परीक्षा देने पहुंचे परीक्षार्थियों में लड़कियां अधिक थीं। इससे साबित हो गया कि लड़कियों में डाक्टर बनने का क्रेज अधिक है। परीक्षा केंद्र में 480 ने लिखित परीक्षा दी है। दोपहर दो से पांच बजे तक परीक्षा आयोजित हुई। सैनिक स्कूल सुजानपुर के उपप्राचार्य जसकरण सिंह परमार ने बताया  सैनिक स्कूल सुजानपुर में नीट परीक्षा का सफल आयोजन किया गया।

You might also like