डाटा साइंस-इंजीनियरिंग में बीटेक

नया बैचलर कोर्स शुरू करने वाला पहला संस्थान बना आईआईटी मंडी

मंडी -भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मंडी डाटा साइंस और इंजीनियरिंग में बैचलर कोर्स शुरू करने वाला पहला संस्थान बन गया है। इस कोर्स में विद्यार्थियों को कम्प्यूटर साइंस, एप्लाइड स्टैटिस्टिक्स, एप्लाइड मैथेमैटिक्स, मशीन लर्निंग की शिक्षा दी जाएगी। इसका संचालन स्कूल ऑफ बेसिक साइंसेज (एसबीएस) और स्कूल ऑफ  कम्प्यूटिंग एंड इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग (एससीईई) संयुक्त रूप से 2019-20 शिक्षा सत्र से होगा। डाटा साइंस कई भावी प्रौद्योगिकी विकासों के लिए अहम है। इंडस्ट्री की मांग पूरी करने के उद्देश्य से मौजूदा समय में आईआईटी मंडी में 15 से 20 प्रतिशत फैकल्टी डाटा साइंस और इससे जुड़े क्षेत्रों के प्रोजेक्ट पर कार्य कर रही है। प्रोग्राम के बारे में आईआईटी मंडी के निदेशक प्रो. टिमथी ए गोंजाल्विस ने कहा कि आज हर जगह मौजूद सेंसरों की मदद से हमारी मशीनों, संरचनाओं और खुद हमारे बारे में डाटा एकत्र करने का काम बहुत तेजी से हो रहा है। डाटा साइंस और इंजीनियरिंग में हमारे बीटेक प्रोग्राम में विद्यार्थियों को बड़े-बड़े डाटा सेट एकत्र करने, प्रोसेस करने और समझने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। वे डाटा के अंदर के पैटर्न देख पाएंगे और उचित कदम उठाने के लिए दूरदृष्टि विकसित करेंगे। यह डिग्री उन्हें बदलती दुनिया में सफलता के लिए आवश्यक कौशल प्रदान करेगी। प्रोग्राम के महत्त्व के बारे में आईआईटी मंडी के स्कूल ऑफ बेसिक साइंसेज के पाठ्यक्रम संयोजक एवं एसोसिएट प्रोफेसर डा. मनोज ठाकुर ने कहा कि डाटा साइंस एंड इंजीनियरिंग प्रोग्राम एक चुनौती पूर्ण पाठ्यक्रम है।

अगस्त में शुरू होंगे कोर्स

अगस्त से आईआईटी मंडी नए कोर्स शुरू करेगा। बी-टेक इंजीनियरिंग फिजिक्स और बायो-इंजीनियरिंग में बीटेक-एमटेक इंटीग्रेटेड ड्यूअल डिग्री प्रोग्राम इसमें शामिल हैं।

You might also like